S M L

Citizenship Bill 2016 का विरोध करेगी North East की 10 पार्टियां और JDU

संगमा और असम गण परिषद की मंगलवार को बुलाई गई राजनीतिक पार्टियों की बैठक में इस बारे में फैसला लिया गया

Updated On: Jan 29, 2019 05:14 PM IST

Bhasha

0
Citizenship Bill 2016 का विरोध करेगी North East की 10 पार्टियां और JDU

जनता दल युनाइटेड (JDU) और बीजेपी के सहयोगी दलों सहित पूर्वोत्तर (North East) की 10 पार्टियों ने नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध करने का मंगलवार को सर्वसम्मति से फैसला किया.

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने यहां संवाददाताओं को इसकी जानकारी दी.

संगमा और असम गण परिषद (AGP) की मंगलवार को बुलाई गई राजनीतिक पार्टियों की बैठक में इस बारे में फैसला किया गया. संगमा ने कहा, ‘विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर के राज्यों के विरोध पर विचार करने के लिए बैठक एक स्वाभाविक प्रक्रिया थी और यह राजनीति से प्रेरित नहीं थी.’

उन्होंने कहा, ‘क्षेत्र की ज्यादातर पार्टियां अपने-अपने राज्यों में विधेयक का विरोध कर रही हैं और इसलिए हमने एकजुट होने का फैसला किया और अपने लोगों और क्षेत्र को बचाने के उपायों पर चर्चा की.’

बैठक में मौजूद रहे मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगमा ने कहा कि उस विधेयक का विरोध करने के लिए सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव लाया गया, जो पूर्वोत्तर के लोगों के लिए खतरनाक और नुकसानदेह है.

एजीपी प्रमुख अतुल बोरा ने कहा कि बैठक ऐतिहासिक है क्योंकि पार्टियों ने विधेयक का विरोध करने और इसे राज्यसभा में पारित नहीं होने देने का सर्वसम्मति से फैसला किया.

बैठक में हिस्सा लेने वाले 10 राजनीतिक दलों में मिजो नेशनल फ्रंट (MNF), यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (UDP), असम गण परिषद (AGP), नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF), नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP), हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (HSPDP), पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट (PDP), इंडिजीनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) और KHNAM शामिल हैं.

बैठक में जेडीयू का प्रतिनिधित्व इसके पूर्वोत्तर प्रभारी एनएसएन लोथा ने किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi