S M L

Telangana: कांग्रेस की जीत के लिए नहीं कटवा रहे थे दाढ़ी, अब 5 साल और करेंगे इंतजार?

उत्तम कुमार रेड्डी ने चुनाव के पहले कसम खाई थी कि वो कांग्रेस के सत्ता में आने तक अपनी दाढ़ी के बाल नहीं कटवाएंगे

Updated On: Dec 12, 2018 05:03 PM IST

PTI

0
Telangana: कांग्रेस की जीत के लिए नहीं कटवा रहे थे दाढ़ी, अब 5 साल और करेंगे इंतजार?

तेलंगाना में कांग्रेस को टीआरएस के सामने करारी हार का सामना करना पड़ा है. तेलंगाना की 119 सीटों में से कांग्रेस को महज 19 सीटें ही मिल पाई हैं. टीआरएस यहां 88 सीटों पर कब्जा कर सरकार बनाने जा रही है.

कांग्रेस को हार का दुख तो होगा ही, लेकिन तेलंगाना कांग्रेस के चीफ उत्तम कुमार रेड्डी के सामने तो और भी पेशोपेश होगा. अगर वो अपना वादा निभाने के लिए तैयार रहते हैं, तो उन्हें अब अपनी दाढ़ी कटवाने के लिए और पांच सालों का इंतजार करना होगा.

दरअसल, न्यूज18 के मुताबिक उत्तम कुमार रेड्डी ने चुनाव के पहले कसम खाई थी कि वो कांग्रेस के सत्ता में आने तक अपनी दाढ़ी के बाल नहीं कटवाएंगे.

खैर, अब तो कांग्रेस राज्य में हार गई है, तो क्या अब रेड्डी अगले चुनावों के नतीजे देखने के लिए इंतजार करेंगे? या अपना ये वादा भी वैसे ही भुला देंगे, जैसे नेता जनता से किया वादा भूल जाते हैं?

बता दें कि रेड्डी ये चुनाव सूर्यापेट जिले की हुजूरनगर विधानसभा सीट से लड़ रहे थे. मंगलवार को आए नतीजों में उन्होंने टीआरएस के सैदी रेड्डी को 8,200 वोट से हरा दिया.

रेड्डी की पत्नी पद्मावती रेड्डी भी कोडाड से चुनाव में लड़ी थीं, लेकिन वो अपने टीआरएस प्रतिद्वंदी मलैया यादव से लगभग 200 वोटों से हार गईं.

बता दें कि इंडियन एयरफोर्ट में पायलट रह चुके उत्तम कुमार रेड्डी 2016 में तेलंगाना में कांग्रेस के चीफ बने थे. क्लीन शेव रहने वाले रेड्डी ने उस वक्त ही ऐलान किया था कि जब तक कांग्रेस सत्ता में नहीं आ जाती, वो अपनी दाढ़ी नहीं कटवाएंगे.

मंगलवार को हार के दुखी नजर आ रहे रेड्डी ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ पर संदेह जताया था.

बता दें कि टीआरएस प्रमुख और तेलंगाना के अगले मुख्यमंत्री केसीआर ने अपनी पिछली सरकार की विधानसभा को सितंबर में भंग कर दिया था, इसलिए तेलंगाना में ये चुनाव कराए गए थे. केसीआर का ये कदम टीआरएस के लिए बेहतरीन साबित हुआ है. यहां पार्टी ने 119 सीटों में 84 सीटें अपने नाम कीं. वहीं कांग्रेस को 19, टीआरएस को समर्थन दे रही असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम को सात और बीजेपी को बस एक सीट मिली.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi