S M L

बिहार के हाई टेक डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का ‘सेल्फीमेनिया’

तेजस्वी यादव ने अपील की है कि उनके जन्मदिन के मौके पर लोग पौधे लगाएं.

Updated On: Nov 18, 2016 04:06 PM IST

Vivek Anand Vivek Anand
सीनियर न्यूज एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
बिहार के हाई टेक डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का ‘सेल्फीमेनिया’

बड़ा भयावह ‘सेल्फीमेनिया’ का दौर है भाई. लोग सेल्फी खींच रहे हैं, मंगवा रहे हैं, बंटवा रहे हैं.

कॉलेज से लेकर कारोबार की दुनिया तक, सिनेमा से लेकर सियासत तक और शहर से लेकर गांव-चौपालों तक सेल्फ सर्विस वाले सेल्फी का चलन है.

राजनीति के डिजिटल वर्जन की नई कहानी ये है कि बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ‘सेल्फीस्टिक’ हो गए हैं.

तेजस्वी यादव ने अपील की है कि उनके जन्मदिन के मौके पर लोग पौधे लगाएं. पौधे लगाते हुए अपनी सेल्फी खींचे और उसे तेजस्वी को भेजें. डिप्टी सीएम जनता जर्नादन की सेल्फी वाली तस्वीर अपने फेसबुक पेज पर अपलोड करेंगे.

9 नवंबर को तेजस्वी यादव का जन्मदिन है. प्रखर ओजस्वी लालू पुत्र तेजस्वी ने अपने जन्मदिन को युवा दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा कर दी है.

स्वयंभू एलान है, युवा दिवस मनाएंगे तो मनाएंगे. और वो भी सेल्फी स्टाइल में मनाएंगे. पर्यावरण बचाओ के शुभ संदेश के साथ मनाएंगे.

गरीब-गुरबों को सेल्फी के माध्यम से सशक्त करके मनाएंगे. इस पूरे सरकारी कार्यक्रम को पेड़ लगाओ, फोटो खींचो और तेजस्वी को भेजो का नायाब नाम मिला है.

‘सुनो...सुनो...सुनो...जन्मदिन मनाने का नायाब अंदाज.’

इसी एलानिया तर्ज पर घोषणा हुई है. मजेदार बात ये है कि तेजस्वी के इस सेल्फी क्रेज के पीछे एक वाजिब वजह जान पड़ती है.

दरअसल पिछले दिनों सेल्फी क्रेज वाले हाईटेक डिप्टी सीएम ने बिहार में दिल्ली वाला प्रयोग किया था.

पीडब्ल्यूडी मंत्रालय संभाल रहे तेजस्वी ने एक व्हाट्सएप नंबर जारी किया. जनता को संदेश दिया कि अगर आपके इलाके की सड़कों में गड्ढे पड़े हैं तो उसका फोटो भेजे.

मंत्रालय फौरी तौर पर कार्रवाई करके गड्ढे भरवाएगा. लेकिन हुआ ये कि गड्ढों के बजाए सुंदर मुखड़ों की तस्वीरें आने लगीं.

कुंवारे डिप्टी सीएम को व्हाट्सएप नंबर पर शादी के प्रस्ताव भेजे जाने लगे. तीन महीने में तेजस्वी यादव को 44 हजार लड़कियों के प्रपोजल आ गए.

लड़कियां अपने बायोडाटा के साथ फिगर, हाइट और कलर की विस्तृत जानकारी भेजने लगीं. लजाते सकुचाते तेजस्वी को कुछ बोलते तक नहीं बना. लेकिन एक आत्मविश्वास तो आ ही गया.

उसी का नतीजा है ये नया शगल- पेड़ लगाओ, फोटो खींचो और तेजस्वी को भेजो. सेलफोन से लैस बिहार की जनता के सामने सुनहरा मौका है. डिप्टी सीएम के फेसबुक पेज पर दिखने का. राजनीति के डिजिटल वर्जन को डिप्टी सीएम अच्छी तरह समझते हैं. जानते हैं कि देश की बड़ी पार्टियां, बड़े नेता, बड़े रणनीतिकार सोशल मीडिया की ताकत को इतना महत्व दे रहे हैं, तो कोई तो बात होगी. पिता से मिली राजनीतिक विरासत को समृद्ध करने के लिए नए तौर तरीके भी अपनाने होंगे. सो सोशल मीडिया पर कूदे पड़े हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi