S M L

तेजस्वी ने मीडिया मालिकों को लिया निशाने पर, पूछा क्यों नहीं देते महत्व

तेजस्वी ने लिखा है- बिहार की सबसे बड़ी पार्टी के 80 विधायको के नेता और नेता प्रतिपक्ष को 80 लाइन नहीं तो 80 शब्द तो बनते हैं

Updated On: Apr 27, 2018 06:09 PM IST

FP Staff

0
तेजस्वी ने मीडिया मालिकों को लिया निशाने पर, पूछा क्यों नहीं देते महत्व

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मीडिया मालिकों को निशाने पर लिया है. उनसे पूछा है कि क्यों उनकी खबरों को सिंगल कॉलम में समेट दिया जाता है. वह भी प्रादेशिक संस्करण में.

उन्होंने इसके लिए पत्रकारों को नहीं, बल्कि मीडिया घरानों के मालिकों को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने पूछा है कि आखिर उनकी क्या ग़लती है जिसके कारण उनकी खबर या बयान वो नहीं छापते?

ट्वीट करते हुए तेजस्वी ने लिखा है- बिहार की सबसे बड़ी पार्टी के 80 विधायको के नेता और नेता प्रतिपक्ष को 80 लाइन नहीं तो 80 शब्द तो बनते हैं. हमारी प्रेस रिलीज़ को खानापूर्ति कर प्रादेशिक की जगह शहर के संस्करण के किसी कोने में सीमित कर दिया जाता है. विशेषत: हिंदी अख़बारों में. गलती पत्रकारों की नहीं, मालिकों की है.

उन्होंने कहा कि सरकार विरोधी मेरा कोई भी बयान बिहार के हिंदी अख़बारों में नहीं छापा जाता. लेकिन हाँ प्रेस रिलीज़ के उस बयान की प्रतिक्रिया में बीजेपी या जेडीयू के बयानवीरों के बयान आधे पेज में ज़रूर छापे जाते है. बिहार में हिंदी पत्रकारिता का स्वर्णिम दौर चल रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi