S M L

LIVE एनडीए से अलग हुई TDP: लोकसभा दिनभर के लिए स्थगित, आंध्र बीजेपी नेताओं की इमरजेंसी मीटिंग

वाईएसआर कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव लाने के ऐलान के बाद अब टीडीपी ने भी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान कर दिया है

FP Staff | March 16, 2018, 03:03 PM IST

0

हाइलाइट

Mar 16, 2018

  • 15:01(IST)

    लोकसभा के बाद राज्यसभा भी सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई 

  • 14:58(IST)

    केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने राज्यसभा में कहा कि वर्तमान मोदी सरकार जितनी कोई और सरकार आंध्र प्रदेश के लोगों के मुद्दों के प्रति संवेदनशील नहीं रही है.

  • 14:56(IST)

    चंद्रबाबू नायडू ने विधानसभा में कहा कि टीडीपी कई तरह के संकटों से सफलतापूर्वक निकलता रहा है, हम इस संकट से भी निकल जाएंगे. मैंने केंद्र को कई चिट्ठियां लिखीं हैं. हाल ही में मैंने पीएम को भी चिट्ठी दी लेकिन कुछ भी निकल कर नहीं आया.

  • 14:48(IST)

    जन सेना पार्टी के नेता पवन कल्याण ने कहा कि उनका इरादा सरकार गिराने का नहीं बल्कि आंध्र प्रदेश के साथ जो अन्याय हुआ है उसपर संसद में बहस करवाने का इरादा है. जन सेना पहली पार्टी थी जिसने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का विचार दिया था और इसके बाद लोगों के दबाव में YSRP और TDP ऐसा करने को मजबूर हुए.

  • 14:20(IST)

    आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा, हमने एनडीए छोड़ दिया है. हमने यह फैसला स्वार्थ में नहीं लिया बल्कि आंध्र प्रदेश के हित को देखते हुए लिया. पिछले चार साल में सारी कोशिशें कीं, 29 बार दिल्ली गया, उनसे कई बार पूछा. यह केंद्र का अंतिम बजट था लेकिन इसमें भी आंध्र का कोई जिक्र नहीं हुआ. हमने अपने सारे मंत्री कैबिनेट से हटा लिए हैं. 

  • 14:00(IST)

    शुक्रवार की कार्यवाही के बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा, जब अविश्वास प्रस्ताव लाया जाता है तो इसे 50 सांसदों का समर्थन प्राप्त होना चाहिए. आज इतने सांसदों ने समर्थन दिया भी लेकिन लोकसभा अध्यक्ष ने इसे नहीं माना. यह कहते हुए कि संसद का काम ठीक ढंग से नहीं चल रहा. इसलिए मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि उसे किस बात का डर है. उनके पास तो लोकसभा में अपार बहुमत है. 

  • 13:32(IST)

    विशेष राज्य के दर्जे की मांग को लेकर शुक्रवार को वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी ने केंद्र और आंध्र सरकार दोनों पर निशाना साधा. रेड्डी ने एक ट्वीट में कहा, पिछले चार साल से वाईएसआर कांग्रेस विशेष राज्य के दर्जे की लड़ाई लड़ रही है और अचानक देश और चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी की निंद खुली. 

  • 12:57(IST)

    इस बीच टीडीपी सांसदों की अलग से बैठक हो रही है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में टीएमसी के सांसद भी शामिल हैं.

  • 12:57(IST)

    इस बीच बीजेपी के आंध्र प्रदेश के नेताओं की आपात बैठक बुलाई गई है. इसमें अभी के हालात पर चर्चा होगी.

  • 12:47(IST)

    लोकसभा दिनभर के लिए स्थगित हो चुकी है. अब सोमवार पर नजर रहेगी. इस दिन टीडीपी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश कर सकती है. उसके पहले पार्टी की कोशिश होगी कि ज्यादा से ज्यादा विपक्षी पार्टियों को एकसाथ लाया जाए. कांग्रेस से लेकर ममता बनर्जी ने भी अविश्वास प्रस्ताव पर टीडीपी को समर्थन देने की बात कही है. आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेट्स दिए जाने की मांग की राजनीति ने अब ऐसा मोड़ लिया है जिसने एनडीए सरकार के सामने मुश्किलें खड़ी कर दी है.

  • 12:39(IST)

    कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने कहा है कि आंध्र प्रदेश के लोगों के लिए पार्टी लड़ती रहेगी और सरकार उन्हें राज्य के लोगों के हक के लिए लड़ने से नहीं रोक सकती. उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर लड़ेंगे. केंद्र सरकार एक्सपोज हो चुकी है वो अपने किसी भी गठबंधन सहयोगी के साथ नहीं है.

  • 12:23(IST)

    बड़े गठबंधन में विचार को लेकर मतभेद होते रहते हैं. एनडीए सरकार को कोई खतरा नहीं है. लेकिन एनडीए सरकार से टीडीपी का हटना दुर्भाग्यपूर्ण है-केसी त्यागी, जेडीयू नेता

  • 12:20(IST)
  • 12:15(IST)

    टीडीपी ने सियासी नजाकत को भांपते हुए संसद में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है. अब तक वाईएसआर कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर राजनीति गरमाती दिख रही थी. मामला अब इससे उलट गया है. वाईएसआर कांग्रेस का मामला कहीं नेपथ्य में जाता दिख रहा है. कई विपक्षी पार्टियों ने टीडीपी का मोदी सरकार से अलग होने के फैसले का समर्थन कर चंद्रबाबू नायडू की 'स्पेशल स्टेटस' की राजनीति को हवा दे दी है. नायडू के बहाने ही कई पार्टियों ने मोदी सरकार के खिलाफ हमला करना शुरू कर दिया है. परिस्थितियां ऐसी बन रही हैं कि संसद में गतिरोध और चरम पर पहुंचे और कामकाज ठप हो जाए. 

  • 12:09(IST)

    लोकसभा का अब तक का ब्योरा

    संसद में हंगामे का दौर जारी है. शुक्रवार का दिन 'अविश्वास प्रस्ताव' के नाम रहने की आशंका है. लोकसभा में कामकाज शुरू हो गया है. कुछ देर पहले नए सदस्यों को शपध दिलाई गई.

    उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और फूलपुर व बिहार के अररिया संसदीय क्षेत्र से नवनिर्वाचित लोकसभा सदस्यों ने शुक्रवार को सदन में शपथ ली. हाल ही में संपन्न उपचुनावों में गोरखपुर लोकसभा सीट से निर्वाचित हुए समाजवादी पार्टी के प्रवीण कुमार निषाद और फूलपुर से एसपी के ही नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने शपथ ली. अररिया से चुने गए आरजेडी के सरफराज आलम ने भी शपथ ली.
    नए सदस्यों के शपथ ग्रहण के दौरान सपा नेता मुलायम सिंह यादव समेत सभी पार्टी सांसद अपनी पार्टी की पहचान लाल टोपी पहनकर सदन में आए थे. वहीं रामगोपाल यादव और नीरज शेखर समेत पार्टी के कई राज्यसभा सदस्य उच्च सदन की दीर्घा में बैठे थे. उन लोगों ने भी लाल टोपी पहन रखी थी. उत्तर प्रदेश में सपा के दोनों सांसदों की जीत को अहम माना जा रहा है क्योंकि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गृहक्षेत्रों में भाजपा के उम्मीदवारों को हराया है. एसपी के दोनों नए सांसदों ने इस दौरान अग्रिम पंक्तियों में बैठे केंद्रीय मंत्रियों अरुण जेटली और राजनाथ सिंह, वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, सपा नेता मुलायम सिंह यादव व कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के पैर छूकर अभिवादन भी किया.

  • 12:04(IST)

    विपक्षी सदस्यों की ओर से एक ही साथ अलग अलग मुद्दे उठाने की कोशिश के चलते हुए हंगामे की वजह से शुक्रवार को राज्यसभा की बैठक शुरू होने के कुछ ही देर बाद दोपहर ढाई बजे तक स्थगित कर दी गई.

  • 12:00(IST)

    आंध्र में टीडीपी के खिलाफ लोगों में लहर है और उसे यह पता है कि बीजेपी लोगों की नाराजगी को भुना सकती है. बीजेपी वहां बड़ी राजनीतिक पार्टी बनकर उभर सकती है. आंध्र प्रदेश हमारे लिए अगला त्रिपुरा बनने जा रहा है-नरसिम्हन

  • 11:56(IST)

    टीडीपी प्रकरण पर बीजेपी की ओर से प्रतिक्रिया देते हुए जीवीएल नरसिम्हा ने कहा, हमें लगता है टीडीपी को आंध्र में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, उन्हें अब 2019 के चुनाव में हार दिख रही है. अपनी खोई जमीन वापस पाने के लिए ही टीडीपी ने यह सारा हथकंडा अपनाया है. 
    नरसिम्हा इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि 4 साल बाद चंद्रबाबू नायडू को ऐसा क्यों लगा कि बीजेपी के साथ काम करने में उन्हें परेशानी है.

  • 11:52(IST)

    टीडीपी सांसद जयदेव गाला ने दिल्ली में कहा, बीजेपी ने गंदी राजनीति करना शुरू कर दिया है. उन्होंने तमिलनाडु में क्या किया, छोटी पार्टियों को उकसाया और बड़ी पार्टियों में फूड डाली. अब यही रणनीति वे आंध्र में भी आजमाना चाहते हैं. हमें इस सरकार में जरा भी भरोसा नहीं बचा.

  • 11:44(IST)
  • 11:43(IST)

    एमआईएम संसद में अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करेगी. मोदी सरकार राज्य पुनर्गठन कानून को लागू करने में असफल रही है. इस सरकार में युवाओं को रोजगार भी नहीं मिला और मुस्लिम महिलाओं और अल्पसंख्यकों के खिलाफ लगातार अन्याय जारी हैं -असदुद्दीन ओवैसी

  • 11:35(IST)

    सीपीआई(एम) नेता सीताराम येचुरी ने अपने एक ट्वीट में कहा, सीपाआई(एम) बीजेपी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करेगी. आंध्र की उम्मीदों के साथ धोखा किसी भी सूरत में माफी योग्य नहीं है. सरकार और संसदीय जवाबदेही की नाकामियों को लोगों के सामने पेश करना चाहिए. 

  • 11:28(IST)

    कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, शुरू से हम आंध्र के विशेष राज्य के दर्जे की मांग का समर्थन कर रहे हैं. हम चाहते हैं कि आंध्र के लोगों को इंसाफ मिले. जब संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा, तब सरकार की नाकामियों पर बात की जाएगी. हम इसके लिए कई पार्टियों से बात कर रहे हैं. 

  • 11:17(IST)

    अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, टीडीपी का सरकार से हटने के फैसले का मैं स्वागत करती हूं. मौजूदा दौर बताता है कि देश को तबाही से बचाना जरूरी है. मैं सभी पार्टियों से अपील करती हूं कि वे उत्पीड़न, आर्थिक विपत्ति और सियासी उथल-पुथल के खिलाफ एकजुट हों. 

  • 11:10(IST)

    बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, आज संसद में देखने लायक होगा कि कौन पार्टी किसके समर्थन में जाती है. चुनावी साल शुरू है और हरेक राज्य के अपने मुद्दे और मांग हैं. इस पर फिलहाल कुछ भी टिप्पणी करना मुनासिब नहीं है. चुनाव से पहले संसद में रिहर्सल की प्रथा शुरू से चली आ रही है.

  • 11:06(IST)

    अविश्वास प्रस्ताव के फैसले पर दिल्ली में सीएम रमेश, थोटा नरसिम्हन, रविंद्र बाबू और अन्य टीडीपी नेताओं में मीडिया को संबोधित किया. इन नेताओं ने बीजेपी का अर्थ 'ब्रेक जनता प्रोमिस' बताया और कहा कि टीडीपी भी अविश्वास प्रस्ताव लाएगी.

  • 10:58(IST)

    टीडीपी सांसद वाईएस चौधरी ने दिल्ली में कहा, यह दुर्भाग्य की बात है. हमने गठबंधन बचाने की पूरी कोशिश की लेकिन मौजूदा केंद्र सरकार ने आंध्र के लोगों की भावनाओं और संवेदना के साथ खिलवाड़ की. पोलित ब्यूरो के साथ सीएम नायडू ने बैठक की जिसमें एक सुर में समर्थन वापस लेने का फैसला हुआ.

  • 10:46(IST)

    आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपने एक वक्तव्य में बताया, आंध्र के खिलाफ केंद्र की नाइंसाफी को देखते हुए मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के जरिये टीडीपी का एनडीए से नाता तोड़ने का फैसला किया है. नायडू ने पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्यों और सांसदों के साथ टेलीकॉन्फ्रेंसिंग की जिसमें सबने एक सुर में एनडीए से हटने का समर्थन किया. 

  • 10:39(IST)

    वाईएसआर कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन कांग्रेस पार्टी भी करेगी. शुक्रवार को इस फैसले की खबर आई. वाईएसआर कांग्रेस के नोटिस को टीडीपी ने समर्थन देने का फैसला पहले ही कर लिया है. कांग्रेस के इस फैसले की जानकारी आंध्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एन रघुवीरा रेड्डी ने दी.

  • 10:35(IST)

    आंध्र प्रदेश के मंत्री केएस जवाहर ने कहा, बीजेपी ने तेलुगू लोगों को ठगा है. और ऐसा करने में फिर कामयाबी हासिल की है. तभी हमलोगों ने संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है.

LIVE एनडीए से अलग हुई TDP: लोकसभा दिनभर के लिए स्थगित, आंध्र बीजेपी नेताओं की इमरजेंसी मीटिंग

अपडेट6- लोकसभा के बाद राज्यसभा भी सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई

अपडेट 5- हंगामे के बीच आज लोकसभा दिनभर के लिए स्थगित हो गई. हालांकि अविश्वास प्रस्ताव पर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है. आंध्र प्रदेश के बीजेपी नेताओं की आपात बैठक बुलाई गई है. उधर टीडीपी सांसदों की बैठक भी चल रही है. बताया जा रहा है कि टीडीपी सांसदों की बैठक में टीएमसी के सांसद भी शामिल हैं.

अपडेट 4- टीडीपी ने सियासी नजाकत को भांपते हुए संसद में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है. अब तक वाईएसआर कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर राजनीति गरमाती दिख रही थी. मामला अब इससे उलट गया है. वाईएसआर कांग्रेस का मामला कहीं नेपथ्य में जाता दिख रहा है. कई विपक्षी पार्टियों ने टीडीपी का मोदी सरकार से अलग होने के फैसले का समर्थन कर चंद्रबाबू नायडू की 'स्पेशल स्टेटस' की राजनीति को हवा दे दी है. नायडू के बहाने ही कई पार्टियों ने मोदी सरकार के खिलाफ हमला करना शुरू कर दिया है. परिस्थितियां ऐसी बन रही हैं कि संसद में गतिरोध और चरम पर पहुंचे और कामकाज ठप हो जाए.

अपडेट 3- अब YSR के बाद टीडीपी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रही है. टीडीपी आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेट्स दिए जाने की मांग को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ अड़ गई है. पहले उन्होंने एनडीए से अलग होने की घोषणा की अब अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कर रही है.

अपडेट 2- टीडीपी प्रकरण पर बीजेपी की ओर से प्रतिक्रिया देते हुए जीवीएल नरसिम्हा ने कहा, हमें लगता है टीडीपी को आंध्र में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, उन्हें अब 2019 के चुनाव में हार दिख रही है. अपनी खोई जमीन वापस पाने के लिए ही टीडीपी ने यह सारा हथकंडा अपनाया है.

नरसिम्हा इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि 4 साल बाद चंद्रबाबू नायडू को ऐसा क्यों लगा कि बीजेपी के साथ काम करने में उन्हें परेशानी है.

अपडेट 1- टीडीपी ने अब एनडीए से अलग होने का ऐलान कर दिया है. YSR कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव को भी टीडीपी समर्थन दे रही है.

वाईएसआर कांग्रेस ने एनडीए सरकार के खिलाफ गुरुवार को अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया. यह कदम आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न मिलने के बाद केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए उठाया गया है.

हालिया खबर के मुताबिक टीडीपी ने एनडीए छोड़ने का फैसला कर लिया है. पार्टी ने अपने वक्तव्य में कहा, पार्टी पोलितब्यूरो ने यह फैसला सर्वसम्मति से लिया है.

पार्टी के सांसद वाई वी सुब्बा रेड्डी ने लोकसभा सचिवालय को नोटिस दिया कि इस प्रस्ताव को सदन के शुक्रवार के कामकाज में शामिल किया जाए. यह जानकारी रेड्डी के कार्यालय ने दी. प्रस्ताव को तभी मंजूर किया जा सकता है जब सदन में उसे कम से कम 50 सदस्यों का समर्थन हासिल हो. वाईएसआर कांग्रेस के लोकसभा में 9 सदस्य हैं.

अगर इसे मंजूर कर लिया जाता है तो यह मोदी सरकार के खिलाफ लाया जाने वाला पहला अविश्वास प्रस्ताव होगा. वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख जगन मोहन रेड्डी ने कई पार्टी के नेताओं को पत्र लिखकर प्रस्ताव के लिए समर्थन मांगा है. पत्र में उन्होंने कहा है कि अगर केंद्र राज्य को विशेष राज्य का दर्जा नहीं देता है तो उसके सभी सांसद छह अप्रैल को इस्तीफा दे देंगे.

वाईएसआर कांग्रेस का नोटिस सदन के शुक्रवार के कामकाज में प्रस्ताव को शामिल करने के लिए दिया गया है. दूसरी ओर वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि उनकी पार्टी 21 मार्च को प्रस्ताव पेश करेगी.

नोटिस का समर्थन करेगी टीडीपी

विशेष राज्य के दर्जे के मुद्दे को देखते हुए टीडीपी सांसद टी नरसिम्हम ने कहा कि उनकी पार्टी प्रस्ताव का समर्थन करेगी. वाईएसआर कांग्रेस राज्य में टीडीपी की मुख्य विपक्षी पार्टी है. बाद में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने भी कहा कि टीडीपी आंध्र प्रदेश के भले के लिए मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करेगी.

नायडू ने आंध्र प्रदेश विधानसभा में कहा, ‘जो भी अविश्वास प्रस्ताव लाएगा हम उसका समर्थन करेंगे. हम उसके लिए तैयार रहेंगे और हमारे 16-17 सांसद उसका पूरी तरह समर्थन करेंगे. हम राज्य के अधिकारों के लिए जो भी लड़ेगा उसका समर्थन करेंगे.’

सिरे से खारिज होगा अविश्वास प्रस्ताव

536 सदस्यीय लोकसभा में बीजेपी के 274 सदस्य हैं जबकि सहयोगी दलों के 56 सदस्य हैं. अगर अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार किया जाता है तो निश्चित तौर पर यह गिर जाएगा, लेकिन विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर आंध्र प्रदेश जैसे राज्य में बीजेपी को मुश्किल में डाल देगा.

टीडीपी ने केंद्र सरकार से अपने मंत्रियों को हटा लिया जब केंद्र ने साफ कर दिया कि वह राज्य को विशेष दर्जा नहीं दे सकता. राज्य में सत्तारूढ़ टीडीपी अब एनडीए छोड़ने पर विचार कर रही है. अगर अविश्वास प्रस्ताव को टीडीपी के 16 सदस्यों का भी समर्थन मिल जाता है तो भी एनडीए सरकार को बहुमत में कोई परेशानी नहीं होने वाली है.

वाईएसआर कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लाकर राज्य में अपनी विपक्षी टीडीपी को बैकफुट पर लाने की कोशिश कर रही है. राज्य में लोकसभा चुनावों के साथ अगले साल विधानसभा के चुनाव भी होने हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi