S M L

जश्ने-रेख्ता में तारिक फतह के आने पर हुआ बवाल

फतह ने बताया ग्रुप के युवाओं को 'जिहादी'

FP Staff Updated On: Feb 20, 2017 05:25 PM IST

0
जश्ने-रेख्ता में तारिक फतह के आने पर हुआ बवाल

विचारक तारिक फतह के दिल्ली में एक कार्यक्रम में आने को लेकर विवाद हुआ. कार्यक्रम में मौजूद कुछ लोगों ने तारिक फतह को इस्लाम विरोधी बताते हुए उनका विरोध किया और जबरदस्ती के विवाद पैदा करते हैं.

फतह दिल्ली के एक महोत्सव जश्ने-रेख्ता में रविवार को शामिल होने पहुंचे थे. पाकिस्तानी मूल के लेखक फतह के वहां आने का वहां मौजूद कई लोगों ने विरोध किया.

40 से अधिक लोगों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की और फतह को परिसर से हटाए जाने की मांग की. आखिरकार पुलिस ने फतह को सुरक्षित निकाला. यह घटना उनके साथ महोत्सव के आखिरी दिन हुई थी.

फतह ने बाद मे ग्रुप के युवाओं को ‘जिहादी’ बताया.

धर्म के बारे में कहेंगे तो हर तरफ से आएगी आवाज

हालांकि विरोध करने वालों में शामिल शाकिब अहमद ने कहा कि ‘यदि आप किसी के भी धर्म के बारे में कहेंगे तो हर इंसान इसी तरह से आवाज उठाएगा.’

महोत्सव के आयोजकों का कहना है की फतेह को इस कार्यकर्म में बुलाया नहीं गया था. वह अपनी मर्जी से आए थे, ‘हमारी तहजीब इतनी कमजोर नहीं है- किसी एक इंसान की वजह से हम अपना काम नहीं रोकेंगे. हमारा कार्यक्रम हर रोज जैसे चलता आ रहा है वैसे ही चलेगा.’

वहीं फतह का कहना है कि उनपर लगे इल्जाम गलत हैं. उन्होंने कहा, ‘मुस्लिम गुंडों के एक ग्रुप ने मुझ पर हमला किया था जब में वहा पर ऑटोग्राफ दे रहा था.’

पुलिस का कहना है ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं मिली है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi