S M L

बिहारः अशोक चौधरी सहित तीन और बागी कांग्रेसियों ने थामा जेडीयू का हाथ

इसमें दिलीप चौधरी, तनवीर अख्तर और रामचंद्र भारती जैसे नेता शामिल हैं

Updated On: Feb 28, 2018 09:31 PM IST

FP Staff

0
बिहारः अशोक चौधरी सहित तीन और बागी कांग्रेसियों ने थामा जेडीयू का हाथ

बुधवार का दिन बिहार की राजनीति में पाला बदलने का दिन रहा. पहले जेडीयू-बीजेपी गठबंधन के साथी और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने पाला बदला और आरजेडी के साथ हो लिए. इसके बाद बारी आई बागी कांग्रेसी नेताओं की. पूर्व शिक्षा मंत्री और बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष रहे अशोक चौधरी ने भी जेडीयू का दामन थाम लिया.

वह अकेले नहीं गए, अपने साथ कुछ और बागियों को जेडीयू के पाले में डाल दिया. इसमें दिलीप चौधरी, तनवीर अख्तर और रामचंद्र भारती जैसे नेता शामिल हैं.

बिहार में आरजेडी-जेडीयू गठबंधन की सरकार गिरने के बाद जब बीजेपी-जेडीयू के गठबंधन की सरकार बनी, उसी वक्त से इसका ताना-बाना बुना जाने लगा था.बिहार में कांग्रेस के कुल 24 विधायक है.

18 कांग्रेस विधायकों के जेडीयू में शामिल होने की थी चर्चा 

आरजेडी से जेडीयू का साथ छूटने के बाद इस बात की चर्चा जोरों पर थी कि उसके 18 एमएलए टूटकर जेडीयू में शामिल हो सकते हैं. इस टूट का नेतृत्व अशोक चौधरी कर रहे हैं. लेकिन अशोक चौधरी ने इस आरोप को खारिज दिया था. इसके बाद राहुल गांधी ने इन नेताओं को दिल्ली तलब किया था.

पार्टी विरोधी हरकतों की वजह से पहले तो अशोक चौधरी प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए गए, इसके बाद पार्टी ने इन्हें निलंबित भी कर दिया. दिलीप चौधरी, तनवीर अख्तर और रामचंद्र भारती भी इसी वजह से कांग्रेस से निकाले गए थे.

बीते साल सितंबर में पद से हटाए जाने के बाद अशोक चौधरी ने कांग्रेस के बिहार प्रभारी सी पी जोशी पर पार्टी आलाकमान को गुमराह करने का आरोप लगाया था. अशोक चौधरी ने कहा कि जिस व्यक्ति ने देशभर में कांग्रेस की लुटिया डूबो दी उसे बिहार चलाने की जिम्मेदारी दी गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi