S M L

लालू प्रसाद ने जो किया है, वही भोग रहे हैं: सुशील मोदी

लालू प्रसाद को राजनीतिक बयानबाजी करने की बजाए भ्रष्टाचार के मामले में कानून का सामना करना चाहिए

Bhasha Updated On: Jul 09, 2017 03:31 PM IST

0
लालू प्रसाद ने जो किया है, वही भोग रहे हैं: सुशील मोदी

सीबीआई का दुरूपयोग करने के कांग्रेस और आरजेडी के आरोपों को खारिज करते हुए बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दावा किया कि इस विषय को 2008 में शरद यादव, ललन सिंह जैसे जेडीयू नेता तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समक्ष उठा चुके हैं और लालू प्रसाद को राजनीतिक बयानबाजी करने की बजाए भ्रष्टाचार के मामले में कानून का सामना करना चाहिए.

सुशील मोदी ने बातचीत में कहा कि एनडीए सरकार के मंत्रियों-नेताओं से पैरवी नाकाम होने के बाद लालू प्रसाद को एहसास हो गया है कि बेनामी संपत्ति के मामले में उनका जेल जाना तय है. इसकी खीझ उतारने के लिए रैली के बहाने पटना को भीड़ के हवाले करने की साजिश रची जा रही है. छापे की जो कार्रवाई हो रही है, उसमें लालू प्रसाद को आगे आकर बिंदुवार जवाब देना चाहिए और बयानबाजी बंद करना चाहिए.

जेडीयू भी उठा चुका है यह मामला 

सीबीआई का दुरूपयोग करने के आरोपों को खारिज करते हुए सुशील मोदी ने दावा किया कि जिस मामले में सीबीआई की कार्रवाई हुई है, उसे पहली बार नौ वर्ष पूर्व 12 अगस्त 2008 को जेडीयू के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष ललन सिंह और राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने उजागर किया था. जेडीयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव इस विषय को उठा चुके हैं.

उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जेडीयू नेता शरद यादव और ललन सिंह ने ज्ञापन सौंप लालू प्रसाद पर कार्रवाई की मांग की थी. बीजेपी नेता ने सवाल किया कि नीतीश कुमार बताए कि किसके दबाव में कानून को अपना काम नहीं करने दिया गया? सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सीबीआई की छापेमारी से साबित हो गया है कि लालू परिवार भ्रष्टाचार में लिप्त है और अब नीतीश कुमार को इस मामले में फैसला लेना चाहिए .

उन्होंने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को राज्य मंत्रीमंडल से बर्खास्त करने की मांग की.

सुशील मोदी ने कहा कि हम मांग करते है कि सीबीआई द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने के बाद मुख्यमंत्री तत्काल तेजस्वी यादव को बर्खास्त करें. उन्होंने कहा कि उन्हें नीतीश कुमार पर भरोसा है कि वे सही निर्णय लेंगे.

उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने हाई कोर्ट में हलफनामा देकर स्वीकार किया कि पटना में लालू परिवार का करोड़ों रुपए की लागत से बनने वाला मॉल पर्यावरण कानून का उल्लंघन कर बन रहा था . इसकी मिट्टी अवैध तरीके से चिड़ियाघर को बेची गई.

सीधे-सीधे आरोपों का जवाब दें लालू 

बीजेपी नेता ने कहा कि लालू प्रसाद ने जो किया है, वही वह भोग रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीबीआई के छापे का आरजेडी की रैली से कोई लेना देना नहीं है. लालू यादव आरोप लगाना छोड़, तथ्यों का जवाब दें.

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बहस मेरिट पर होनी चाहिए. उन्होंने आरजेडी नेताओं को सलाह दी कि वे तथ्यों का जवाब दें. आज की स्थिति यह है कि लालू प्रसाद बिहार के सबसे बड़े जमींदार की हैसियत बना चुके हैं. उन्हें बताया चाहिए कि यह सब किस प्रकार से हासिल किया .

उन्होंने कहा कि चारा घोटाले के समय भी लालू प्रसाद ऐसी ही बयानबाजी कर रहे थे और उन्हें अपनी सरकार के दौरान इस मामले में जेल जाना पड़ा था.

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती और उनके पति के दिल्ली स्थित तीन फार्महाउसों और उनसे संबंधित एक फर्म पर प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन के एक मामले की जांच के तहत छापे मारे.

एक दिन पहले ही सीबीआई ने लालू प्रसाद एवं उनके परिवार के कुछ सदस्यों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था. लालू प्रसाद अपने बयान में कह चुके हैं कि मैं बीजेपी की गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं हूं. मैं देश बचाना चाहता हूं इसलिए बीजेपी भगाना चाहता हूं और बीजेपी मुझे भगाना चाहती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi