S M L

राफेल पर सभी मुद्दों को SC ने किया साफ, विवाद सिर्फ कांग्रेस नेताओं के मन में: सुषमा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में कहा कि राफेल सौदे पर कांग्रेस द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस संबंध में कोई विवाद नहीं है, विवाद सिर्फ कांग्रेस नेताओं के मन में है

Updated On: Jan 03, 2019 05:08 PM IST

Bhasha

0
राफेल पर सभी मुद्दों को SC ने किया साफ, विवाद सिर्फ कांग्रेस नेताओं के मन में: सुषमा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि राफेल विमान सौदे पर कांग्रेस द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस संबंध में कोई विवाद नहीं है, विवाद सिर्फ कांग्रेस नेताओं के मन में है. सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में यह टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सभी मुद्दों को स्पष्ट कर दिया है.

उनके जवाब से असंतोष जताते हुए कांग्रेस सदस्यों से सदन से वाकआउट किया. अपने पूरक सवाल में कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने सरकार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति ओलांद के बीच हुई बैठक का ब्यौरा (मिनट) सार्वजनिक करने की मांग की ताकि इससे जुड़े विवाद का हल हो.

सुषमा ने इस पर कहा कि कोई विवाद नहीं है. विवाद सिर्फ कांग्रेस नेताओं के मन में है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है. उन्होंने कहा कि पूरा देश जानता है कि कोई विवाद नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर खुश थे फ्रांस के विदेश मंत्री

शिवसेना सदस्य ने सवाल किया कि हाल ही में फ्रांसीसी विदेश मंत्री ली द्रियां की हालिया यात्रा के दौरान क्या राफेल मुद्दे पर कोई बातचीत हुई थी. इसके जवाब में सुषमा ने कहा कि इस संबंध में कोई बातचीत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि उसी दिन सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था और इससे फ्रांसीसी मंत्री काफी खुश थे.

उन्होंने एक अन्य पूरक सवाल के जवाब में कहा कि जैतापुर परमाणु संयंत्र के संबंध में फ्रांस से समझौता हुआ है. इसमें छह इकाइयां बनेंगी और हर इकाई की क्षमता 1650 मेगावाट होगी. उन्होंने कहा कि बनकर तैयार होने पर यह संयंत्र दुनिया का सबसे बड़ा परमाणु संयंत्र होगा.

सुषमा ने एक अन्य पूरक सवाल के जवाब में कहा कि ब्रेग्जिट की प्रक्रिया अब भी जारी है और इसके पूरा होने तक ब्रिटेन में भारतीय नागरिकों को कोई परेशानी नहीं होगी. उन्होंने कहा कि ब्रेग्जिट के मुद्दे पर ब्रिटेन की संसद में सात जनवरी से चर्चा शुरू होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi