S M L

भगवान राम होते तो उन्हें भी चुनाव जीतने के लिए पैसे खर्च करने पड़ते: सुभाष वेलिंगकर

सुभाष वेलिंगकर ने कहा, 'हाल की स्थिति में चुनावों के दौरान धन की ताकत के अंधाधुंध इस्तेमाल के चलते भगवान राम भी जब तक पैसा खर्च नहीं करते उन्हें नहीं चुना जाता.'

Updated On: Sep 27, 2018 02:17 PM IST

Bhasha

0
भगवान राम होते तो उन्हें भी चुनाव जीतने के लिए पैसे खर्च करने पड़ते: सुभाष  वेलिंगकर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की गोवा इकाई के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगकर ने दावा किया है कि वर्तमान राजनीतिक हालात में भगवान राम को भी चुनाव जीतने के लिए पैसा खर्च करना पड़ता.

वह बुधवार को पणजी में गोवा सुरक्षा मंच (जीएसएम) के युवा सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा, 'चुनाव के दौरान नेता दो तरह के लोगों - युवा और महिलाओं को नकद या उपहार की पेशकश कर लुभाने में व्यस्त रहते हैं. वह उन्हें सीधे-साधे लगते हैं.'

वेलिंगकर ने कहा, 'हाल की स्थिति में चुनावों के दौरान धन की ताकत के अंधाधुंध इस्तेमाल के चलते भगवान राम भी जब तक पैसा खर्च नहीं करते उन्हें नहीं चुना जाता.'

उन्होंने 2017 में गोवा विधानसभा चुनावों के मौके पर अपना अलग दल जीएसएम बना लिया था. स्कूली शिक्षा में भाषा के माध्यम के मुद्दे को लेकर बीजेपी मंत्री मनोहर पर्रिकर से विवाद होने के बाद उन्होंने इस दल का गठन किया था.

बीजेपी पर लगाए आरोप

उन्होंने बीजेपी पर 'नैतिकता खोने और देश की दूसरी पार्टियों जैसे कृत्यों में लिप्त होने' के आरोप लगाए.

वेलिंगकर ने दो बीमार मंत्रियों को राज्य मंत्रिमंडल से बाहर करने के फैसले को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर भी हमला बोला.

उन्होंने कहा, 'पर्रिकर ने दो मंत्रियों को बीमार होने के चलते कैबिनेट से बाहर कर दिया लेकिन वह खुद गंभीर रूप से बीमार होने के बावजूद अपने पद पर बने हुए हैं.'

वेलिंगकर ने कहा, 'बीजेपी भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करने की बात करती है लेकिन मुझे कोई एक भी मंत्री ऐसा दिखा दीजिए जो पैसा नहीं बना रहा है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi