S M L

लोकसभा चुनाव 2019: अखिलेश ने दिए संकेत, BJP के खिलाफ महागठबंधन में जुड़ेंगे नए साथी

यूपी के पूर्व सीएम से जब पूछा गया कि अगर ममता बनर्जी पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में सामने आती हैं तो क्या वों समर्थन देंगे, तो उन्होंने कहा कि फिलहाल ये हमारी प्राथमिकता नहीं है

Updated On: Jan 20, 2019 11:39 AM IST

FP Staff

0
लोकसभा चुनाव 2019: अखिलेश ने दिए संकेत, BJP के खिलाफ महागठबंधन में जुड़ेंगे नए साथी

2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के खिलाफ कई और पार्टियां भी महागठबंधन में जुड़ सकती हैं. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस बात के संकेत दिए हैं कि आने वाले बेहतर कल के लिए कई पार्टियां आगे आकर हाथ थाम सकती हैं.

न्यूज़18 से बात करते हुए शनिवार को अखिलेश यादव ने कहा कि ममता बनर्जी ने परिवर्तन के लिए हम सभी को एक साथ लाने की पहल की है. उन्होंने कहा, 'बीजेपी ने गरीबों के लिए कुछ नहीं किया. आज किसान नाखुश है और युवाओं के पास नौकरी नहीं है, देश आर्थिक समस्याओं से गुजर रहा है.' उन्होंने कहा जीएसटी और नोटबंदी के कारण लोगों के सपने बिखर कर रह गए हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी को जवाब देना पड़ेगा कि उसने लोगों के साथ ऐसा अन्याय क्यों किया?

शनिवार को कोलकाता में हुई ममता बनर्जी की महारैली के बारे में बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि परिवर्तन का संदेश कोलकाता से शुरू हो गया है. एक के बाद एक लोग इस क्रांति का हिस्सा बनने के लिए आगे आ रहे हैं. उन्हें भी इस बात का अहसास हो रहा है कि फिलहाल बीजेपी को सत्ता से हटाना सबसे ज्यादा जरूरी है.

वहीं विपक्ष के महागठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री के लिए उम्मीदवार के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने कहा कि, वो (बीजेपी) पूछ रहे हैं कि महागठबंधन का चेहरा कौन होगा, मैं भी उनसे यही सवाल पूछना चाबता हूं, कि इस बार उनकी तरफ से कौन होगा पीएम पद का उम्मीदवार?

Mamata Banerjee Kolkata Rally

ममता बनर्जी की कोलकाता में बुलाई युनाइटेड इंडिया रैली में 16 विपक्षी दलों के नेता एक साथ मंच पर नजर आए (फोटो: पीटीआई)

पीएम पद की अम्मीदवारी पर क्या बोले अखिलेश यादव?

वहीं महागठबंधन पर सवाल पूछने पर अखिलेश यादन ने कहा कि यूपी में हमने बीएसपी के साथ गठबंधन किया है. यहां (कोलकाता) सभी क्षेत्रीय नेता एक साथ हैं. मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि यह मंच इस लोकसभा चुनाव में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, इसलिए मैं यहां आया हूं. मायावती जी ने अपनी तरफ से सतीश चंद्र मिश्रा को यहां भेजा था. बड़े नेता एक दूसरे का हाथ थाम रहे हैं, यह एक सफल महागठबंधन का संकेत है और इसके लिए मैं दीदी को धन्यवाद देता हूं.

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री से जब पूछा गया कि अगर ममता बनर्जी पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में सामने आती हैं तो क्या वो उन्हें समर्थन देंगे. इसपर उन्होंने कहा कि फिलहाल यह हमारी प्राथमिकता नहीं है. हम यहां लोकतंत्र को बचाने के लिए जुटे हैं. पोस्ट बाद में तय किया जा सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi