S M L

शांत और समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए प्रतिबद्ध है भारत: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री सिंगापुर में दो दिवसीय यात्रा के कार्यक्रमों को सम्पन्न कर के स्वदेश के लिए रवाना हो चुके हैं.

Updated On: Nov 15, 2018 06:13 PM IST

Bhasha

0
शांत और समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए प्रतिबद्ध है भारत: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय सिंगापुर यात्रा संपन्न हो गई. दौरे के आखिरी दिन यानी गुरुवार को प्रधानमंत्री आसियान-भारत इनफॉर्मल ब्रेकफास्ट समिट में शामिल हुए. इसके बाद उन्होंने 13 वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लिया और एक शांत एवं समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए देश की प्रतिबद्धता जाहिर की. उन्होंने सम्मेलन के दस देशों के बीच बहुपक्षीय भागीदारी तथा आर्थिक एवं सांस्कृतिक क्षेत्र में संबंधों का विस्तार किए जाने का आह्वान किया.

यह पांचवीं बार है जब प्रधानमंत्री पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में शामिल हुए हैं. मोदी ने ट्वीट किया,'पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में मैंने सदस्य देशों के बीच बहुपक्षीय तालमेल तथा आर्थिक एवं सांस्कृतिक संबंधों को विस्तृत करने के बारे में अपने विचार साझा किया. मैंने शांत एवं समृद्ध हिंद-प्रशांत के लिए भारत की प्रतिबद्धता को भी दोहराया.'

इसके सदस्य देशों में 10 आसियान देश इंडोनेशिया, थाईलैंड, सिंगापुर, मलेशिया, फिलीपींस, वियतनाम, म्यांमा, कंबोडिया, ब्रुनेई और लाओस के साथ ही ऑस्ट्रेलिया, चीन, भारत, जापान, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया, रूस और अमेरिका शामिल हैं. मोदी ने पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन रीट्रीट से पहले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे समेत अन्य देशों के नेताओं के साथ बातचीत की.

प्रतिष्ठित फिनटेक फेस्टिवल को  संबोधित करने से हुई मोदी की यात्रा शुरू

उधर आसियान-भारत शिखर बैठक में मोदी ने सामरिक तौर पर महत्वपूर्ण हिंद-प्रशांत क्षेत्र की समृद्धि के लिए समुद्री सहयोग और व्यापार के केंद्रीकरण की जरूरत को रेखांकित किया. मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'आसियान-भारत शिखर बैठक में आसियान देशों के नेताओं से बातचीत हुई. हमें इस बात की खुशी है कि आसियान के साथ संबंध मजबूत हैं और शांत एवं समृद्ध विश्व के लिए हम योगदान दे रहे हैं.'

प्रधानमंत्री ने कैडेट आदान-प्रदान कार्यक्रम के तहत सिंगापुर गए एनसीसी के कैडेट दल से भी मुलाकात की. वहीं सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और थाईलैंड के प्रधानमंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें भी कीं. इनमें व्यापार, रक्षा एवं सुरक्षा के क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत करने पर चर्चा हुई.

मोदी की इस यात्री की शुरुआत बुधवार को प्रतिष्ठित फिनटेक फेस्टिवल को  संबोधित करने से हुई थी. बीते 31 मई के अपने सिंगापुर दौरे में प्रधानमंत्री ने अपने सिंगापुरी समकक्ष ली सन लूंग के सामने यह प्रस्ताव रखा था कि भारत और सिंगापुर एक संयुक्त हैकेथॉन का आयोजन करे.

इसी के बाद दोनों देशों से 20-20 टीमों ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया. इन टीमों में यूनिवर्सिटी और कॉलेज के छात्र शामिल थे जिन्हें देश भर से चुना गया. पीएम ने गुरुवार को भारत-सिंगापुर हैकेथॉन 2018 की 6 विजेता टीमों को सम्मानित भी किया. इनमें तीन दल भारतीय रहे. उन्होंने कहा कि भारत-सिंगापुर हैकाथन युवाओं के लिए अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का एक मंच है.इससे प्रौद्योगिकी, नवप्रवर्तन तथा युवा शक्ति को प्रोत्साहन मिला है.

फिलहाल  प्रधानमंत्री दो दिवसीय यात्रा के कार्यक्रमों को सम्पन्न कर के स्वदेश के लिए रवाना हो चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi