S M L

BJP के दुष्प्रचार के कारण धर्म के बारे में बात करते हुए रहता हूं सतर्क: सिद्धरमैया

कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा, लिंगायत नेताओं के कहने पर की पंथ को धर्म का दर्जा देने की सिफारिश की थी

Updated On: Dec 09, 2018 11:54 AM IST

Bhasha

0
BJP के दुष्प्रचार के कारण धर्म के बारे में बात करते हुए रहता हूं सतर्क: सिद्धरमैया

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा कि केंद्र को पंत को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देने की सिफारिश उन्होंने लिंगायत नेताओं  के कहने पर की थी. उन्होंने शनिवार को कहा कि लिंगायत नेताओं ने उन्हें समुदाय के लिए आरक्षण की सिफारिश करने को लेकर राजी किया था.

सिद्धरमैया ने कहा कि, उन्होंने लिंगयात समुदाय के लिए जो सिफारिश की उसके लिए विपक्ष की तरफ से उनका काफी विरोध किया गया.

सिद्धरमैया शनिवार को  चामराजनगर जिले में एक स्कूल के भूमि पूजन समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे थे, तबी उन्होंने ये बात कही.

उन्होंने कहा, ‘जब मैं मुख्यमंत्री था, बसवेश्वर सिद्धांत को मानने वाले संतों ने मुझसे आग्रह किया कि मैं लिंगायत संप्रदाय को धर्म का दर्जा दूं. उन्होंने इसके लिए मुझे राजी किया था.'

सिद्धरमैया ने कहा कि लिंगायत और वीरशैव पंथ के प्रमुख ने नये धर्म का नाम लिंगायत या वीरशैव रखने की मांग की थी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता शमनुर शिवशंकरप्पा और कुछ अन्य लिंगायत नेताओं ने बीच का रास्ता सुझाया और फैसला किया गया कि नए पंथ का नाम लिंगायत वीरशैव किया जाए.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘इसमें क्या गलत था? मेरी क्या गलती थी? लेकिन (बीजेपी ने) मेरे खिलाफ दुष्प्रचार किया. यही कारण है कि धर्म के बारे में बात करते हुए मैं बहुत सतर्क रहता हूं’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi