S M L

शिवसेना का बीजेपी पर हमला, तीन साल से प्रयोग ही कर रही सरकार

उद्धव की पार्टी ने कल हुए मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर बीजेपी पर तंज कसा

Updated On: Sep 04, 2017 03:31 PM IST

FP Staff

0
शिवसेना का बीजेपी पर हमला, तीन साल से प्रयोग ही कर रही सरकार

केंद्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि सरकार के तीन साल से ज्यादा हो गए हैं पर आज भी इसमें नए-नए प्रयोग किए जा रहे हैं.

सरकार में स्थिरता की कमी की ओर इशारा करते हुए शिवसेना ने बीजेपी पर तंज कसा. इसके अलावा शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा है कि लोग अब भी ‘अच्छे दिन’ का इंतजार कर रहे हैं.

संपादकीय में मंत्रालयों के बंटवारे को बीजेपी का आंतरिक मामला बताते हुए कहा गया है,'हम चुप नहीं रह सकते क्योंकि इसका संबंध राष्ट्रीय सुरक्षा और देश के विकास से है.'

इसमें कहा गया, 'मंत्रिमंडल के फेरबदल में मोदी और अमित शाह के चुने हुए लोगों को शामिल किया गया. पार्टी का कहना है कि कुछ लोगों को हटाने के पीछे उनकी बढ़ती उम्र है, लेकिन उनके युवा मंत्रियों ने भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया है.' उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली यह पार्टी महाराष्ट्र और केंद्र दोनों में ही बीजेपी के साथ गठबंधन में है.

'कौन से मंत्रालय ने किया अच्छा काम?'

इस साल मुंबई यूनिवर्सिटी के परीक्षा परिणामों की घोषणा में हुई देरी के बारे में संपादकीय में कहा है, 'नोटबंदी पूरी तरह असफल हो गई. महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है. खाना, कपड़ा और मकान की मुश्किलें अब भी सामने हैं. मुंबई जैसे शहर में यूनिवर्सिटी में अराजकता होने के कारण देर से आने वाले परिणामों को लेकर छात्रों के बीच उलझन है.'

सामना में पूछा गया, 'बिहार, असम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश जैसे राज्य बाढ़ से उजड़ गए हैं और सरकारी अस्पतालों में होने वाले मौतें रुकने का नाम नहीं ले रहीं हैं. कौन से मंत्रालय ने कौन सी समस्या सुलझाई है?'

संपादकीय में कहा गया कि सुरेश प्रभु को रेलवे मंत्रालय से भले ही हटा दिया गया हो, लेकिन इस विभाग में अब भी गड़बड़ियां हैं. गंगा सफाई अभियान पूरी तरह अव्यवस्था का शिकार रहा लेकिन उमा भारती पर कोई कार्रवाई नहीं की गई.

शिवसेना ने कहा, 'मंत्रिमंडल में विस्तार बीजेपी की राजनीतिक आवश्यकता थी और पार्टी ने बस वही किया.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi