S M L

शिवसेना से 25 साल तक जुड़ा रहा, इसलिए मेरे स्वास्थ्य को लेकर वह चिंतित: भुजबल

स्वास्थ्य के बारे में पूछे जाने पर भुजबल ने कहा, 'पिछले साढ़े तीन महीने से मैं स्वस्थ नहीं हूं. मैं अभी भी पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ

Updated On: May 10, 2018 05:50 PM IST

Bhasha

0
शिवसेना से 25 साल तक जुड़ा रहा, इसलिए मेरे स्वास्थ्य को लेकर वह चिंतित: भुजबल

धन शोधन के एक मामले में जमानत पर रिहा NCP के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल ने कहा कि उनके स्वास्थ्य को लेकर शिवसेना थोड़ी चिंतित है क्योंकि वह इस भगवा पार्टी के साथ 25 साल तक जुड़े रहे थे.

भुजबल ने कहा कि उनके जेल से बाहर आने के बाद सबसे पहले NCP प्रमुख शरद पवार ने उन्हें फोन किया. उन्होंने यह आशा भी जताई कि महाराष्ट्र सदन घोटाला में सच्चाई सामने आएगी. इस मामले में वह एक आरोपी हैं.

गौरतलब है कि भुजबल (70) को यहां केईएम अस्पताल से आज छुट्टी दे गई. आर्थर रोड जेल से रिहा होने के बाद करीब एक हफ्ते से वहां उनका इलाज चल रहा था. इसके बाद वह उपनगरीय सांताक्रूज स्थित अपने आवास गए.

बाद में उनके बेटे पंकज भुजबल ने एक बयान में कहा कि पूर्व उप मुख्यमंत्री पिछले दो महीनों से अग्नाशय से जुड़ी एक बीमारी से ग्रसित हैं. उन्हें इसके लिए और आगे भी इलाज और सर्जरी कराने की जरूरत होगी.

पंकज ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी जिन्होंने उन्हें अपने बीमार पिता की देखभाल करने की सलाह दी थी. मुलाकात से जुड़े एक करीबी सूत्र ने यह जानकारी दी. उन दोनों की मुलाकात से ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि NCP के वरिष्ठ नेता के प्रति शिवसेना के रुख में बदलाव आया है.

अस्पताल से रिहा होने परअपना आवास पहुंचने के बाद भुजबल ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'मैं 25 साल तक शिवसेना से जुड़ा रहा था, कुछ जुड़ाव रहना स्वाभाविक है. कुछ चिंता तो रहेगी ही.'

पूर्व उप मुख्यमंत्री ने अपना राजनीतिक करियर शिवसेना के साथ शुरू किया था और वह पार्टी में दो दशक से अधिक समय तक रहे. वह 1991 में कांग्रेस में शामिल हो गए. बाद में जब शरद पवार कांग्रेस से अलग होकर NCP का गठन किया, तब वह उनके साथ चले गए.

स्वास्थ्य के बारे में पूछे जाने पर भुजबल ने कहा, 'पिछले साढ़े तीन महीने से मैं स्वस्थ नहीं हूं. मैं अभी भी पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ. आगे के इलाज के बारे में उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में वह अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं. मुझे कुछ सर्जरी करानी होगी और यदि मैं बेहतर हो गया तो मैं निश्चित रूप से राजनीतिक क्रियाकलाप करूंगा.'

NCP ने 10 जून को पुणे में एक विशाल रैली करने का फैसला किया है. इसमें भाग लेने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर भुजबल ने कहा, 'यदि मैंने स्वस्थ महसूस किया तो मैं पुणे जाउंगा और कार्यक्रम में भाग लूंगा.’

भुजबल धन शोधन के मामले में मार्च 2016 से जेल में बंद थे. बंबई हाईकोर्ट ने उनकी उम्र और बिगड़ती तबीयत पर विचार करने के बाद चार मई को उनकी जमानत मंजूर की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi