S M L

मोदी सरकार में ‘पार्टी’ और ‘राज्य’ के बीच कोई अंतर नहीं : सिब्बल

देश में अब लोकतंत्र की गुणवत्ता 2004 से 2014 के समय से अलग है. लेकिन लोकतंत्र अब भी जिंदा है, बिना यह मायने रखे कि कौन सत्ता में है

Updated On: Aug 18, 2018 09:06 PM IST

Bhasha

0
मोदी सरकार में ‘पार्टी’ और ‘राज्य’ के बीच कोई अंतर नहीं : सिब्बल

वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि भाजपा सरकार में 'राज्य' और 'पार्टी' के बीच विभाजन रेखा खत्म हो गई है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यूपीए सरकार पर 'मजबूत नेता' का अभाव होने का आरोप था लेकिन फिर भी उसने बेहतर आर्थिक वृद्धि दी.

सत्ता में बैठे लोगों द्वारा 'सड़कों पर होने वाली हिंसा' के कथित इस्तेमाल पर एक सवाल के जवाब में सिब्बल ने कहा, 'यह एक समस्या है जो तब पैदा हुई जब राज्य और पार्टी के बीच कोई अंतर नहीं रहा.'

उन्होंने कहा, 'सड़कों पर ऐसा क्यों हो रहा है, इसकी वजह है कि पार्टी सरकार चला रही है लेकिन सरकार देश नहीं चला रही. अगर भाजपा दोबारा सत्ता में आती है तो यह चलता रहेगा और अगर गठबंधन सरकार बनती है तो यह नहीं होगा.'

सिब्बल ने कहा, 'देश में अब लोकतंत्र की गुणवत्ता 2004 से 2014 के समय से अलग है. लेकिन लोकतंत्र अब भी जिंदा है, बिना यह मायने रखे कि कौन सत्ता में है.' सिब्बल ने दावा किया कि सरकार केवल प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा चलाई जा रही है.

कांग्रेस नेता ने कहा, 'पहले सत्ता में होने वाली पार्टी खुद को राज्य में शामिल नहीं करती थी. दोनों अलग रहते थे. लेकिन अब इतिहास में पहली बार पार्टी और राज्य के बीच कोई अंतर नहीं है.'

आरएसएस की ओर इशारा करते हुए प्रतिष्ठित वकील ने कहा, 'नागपुर भारत को चलाता है.' आरएसएस का मुख्यालय नागपुर में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi