S M L

एयर इंडिया के निजीकरण में नजर आ रहा घोटालाः स्वामी

सुब्रमणियन स्वामी ने कहा अगर दोषी का पता चल गया तो उसके खिलाफ प्राइवेट क्रिमिनल लॉ शिकायत दर्ज कराउंगा

FP Staff Updated On: Mar 31, 2018 08:48 PM IST

0
एयर इंडिया के निजीकरण में नजर आ रहा घोटालाः स्वामी

सरकार एयर इंडिया में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है. एयर इंडिया की खस्ता माली हालत की वजह सरकार ने इसमें अपनी हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है.

बीजेपी के  राज्यसभा सांसद सुब्रमणियन स्वामी ने इस पर शंका जाहिर की है. उन्होंने कहा कि आनेवाले समय में यह एक बड़े घोटाले के रूप में सामने आ सकती है. वह इसे काफी नजदीक से देख, समझ रहे हैं.

शनिवार को एक ट्वीट में उन्होंने लिखा कि एयर इंडिया की संभावित बिक्री एक बड़ा स्कैम नजर आ रहा है. घर के सोने को बेचना सही विनिवेश नहीं कहा जा सकता है. मैं यह देख रहा हूं कि यह सब कौन कर रहा है. अगर दोषी का पता चल गया तो उसके खिलाफ प्राइवेट क्रिमिनल लॉ शिकायत दर्ज कराउंगा.

76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर चुकी है सरकार 

सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने घाटे में चल रही एयर इंडिया और इसकी दो सब्सिडियरी में हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है. मिनिस्ट्री के मेमोरेंडम के मुताबिक, सरकार एयर इंडिया में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के साथ मैनेजमेंट का कंट्रोल भी ट्रांसफर करने की तैयारी में है.

मेमोरेंडम के मुताबिक, एयर इंडिया का कोई कर्मचारी या मैनेजमेंट या कंसोर्शियम नीलामी में शामिल हो सकता है. एयर इंडिया पर टोटल 470 अरब का कर्ज है. इसके नए मालिक को इसका 48 फीसदी यानी 245.76 अरब कर्ज का बोझ उठाना होगा.

इस नीलामी में शामिल होने के लिए 14 मई तक अपनी दिलचस्पी दिखानी होगी. नीलामी लगाने वालों को 28 मई को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा. एयर इंडिया की बोली लगाने के लिए न्यूनतम बोली 50 अरब रुपए तय किया गया है. भारत सरकार ने अर्नेस्ट एंड यंग को इस ट्रांजैक्शन के लिए एडवाइजर नियुक्त किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi