S M L

Namo App के जरिए कैंडिडेट चुनने की भाजपाई रणनीति कितनी कारगर?

संसदीय क्षेत्र में आखिर जनता क्या सोचती है, क्या इस बार किसी नए प्रत्याशी को बीजेपी की तरफ से मैदान में देखना चाहती है या अपने मौजूदा सांसद से ही वो खुश और संतुष्ट है, इसके बारे में जानकारी जुटाने के लिए बीजेपी की तरफ से अब नमो ऐप पर एक सर्वे कराया जा रहा है.

Updated On: Jan 16, 2019 06:17 PM IST

Amitesh Amitesh

0
Namo App के जरिए कैंडिडेट चुनने की भाजपाई रणनीति कितनी कारगर?

नमो ऐप पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की गतिविधियों के बारे में तो जानकारी रहती है.यहां तक कि इस ऐप के माध्यम से प्रधानमंत्री सीधे देश की जनता तक संवाद भी करते रहे हैं. लेकिन, अब नमो ऐप पर सर्वे के जरिए यह तय हो रहा है कि किस सांसद का टिकट कटेगा और किस सांसद का टिकट बरकरार रहेगा.

संसदीय क्षेत्र में आखिर जनता क्या सोचती है, क्या इस बार किसी नए प्रत्याशी को बीजेपी की तरफ से मैदान में देखना चाहती है या अपने मौजूदा सांसद से ही वो खुश और संतुष्ट है, इसके बारे में जानकारी जुटाने के लिए बीजेपी की तरफ से अब नमो ऐप पर एक सर्वे कराया जा रहा है.

नमो ऐप पर जनता के सर्वे शुरू होने के बाद बीजेपी के मौजूदा सांसदों की नींद उड़ी हुई है. इस वक्त बीजेपी के 268 सांसद हैं. हालाकि खुलकर कुछ बोलने से ये सांसद इनकार कर रहे हैं. लेकिन, उनके भीतर सर्वे ने बेचैनी बढा दी है. सर्वे में कई सवाल पूछे गए हैं. लेकिन, अपने संसदीय क्षेत्र से आम लोगों से अपने तीन पोपुलर नेता के बारे में पूछा गया सवाल उन्हें बेहद परेशान कर दिया है.

सर्वे में कुछ और सवाल भी पूछे गए हैं. मसलन, सरकार के काम-काज के बारे में रैंकिंग के बारे में पूछा गया है. अपने संसदीय क्षेत्र के तीन पोपुलर नेताओं के अलावा राज्य स्तर के भी तीन पोपुलर नेताओं का नाम भी इस सर्वे में पूछा जा रहा है.

नमो ऐप पर सर्वे लॉन्च होने के बाद प्रधानमंत्री ने एक विडियो अपलोड कर लोगों से इस सर्वे में हिस्सा लेने के लिए कहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस सर्वे में दिलचस्पी ले रहे हैं. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'विभिन्न मुद्दों पर मुझे आपका डायरेक्ट (सीधा) फीडबैक चाहिए. नरेंद्र मोदी ऐप पर इस सर्वे में शामिल हों.'

ट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने जो विडियो शेयर किया है, उसमें उन्होंने कहा, 'आपका फीडबैक मायने रखता है. विभिन्न मुद्दों पर आपका फीडबैक हमें महत्वपूर्ण फैसले लेने में मदद करेगा. क्या आप इस सर्वे में शामिल होंगे, साथ ही दूसरों को भी ऐसा करने के लिए कहेंगे.'

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी ट्वीट कर लोगों से नमो ऐप पर सर्वे में हिस्सा लेने की अपील की. उन्होंने कहा, 'विभिन्न मुद्दों और अपने क्षेत्र के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना फीडबैक देने का यह बेहतरीन अवसर है. आप सर्वे में शामिल होकर न्यू इंडिया के निर्माण में अपना योगदान दे सकते हैं.'

इस सर्वे से चुनाव की तैयारियों में लगे बीजेपी के सांसद और टिकट के दावेदारों के बीच नमो ऐप पर सक्रिय होने की होड़ लग गई है. दरअसल, अलग-अलग चुनाव क्षेत्र में इस सर्वे को सफल बनाने के लिए बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता जितना ही सक्रिय होंगे उतना ही नमो ऐप पर सक्रिय लोगों की संख्या में इजाफा होगा. मतलब अप्रत्यक्ष तौर पर नमो ऐप को फॉलो करने वाले लोगों की तादाद भी बढ़ेगी.

पार्टी संगठन से जुडे लोग नमो ऐप पर एक्टिविटी को और बढ़ाने का जरिया भी मान रहे हैं. मौजूदा वक्त में 10 मिलियन से ज्यादा लोग नमो ऐप पर सक्रिय हैं. नमो ऐप पर पार्टी के सभी सांसदों, नेताओं के अलावा कार्यकर्ता भी काफी सक्रिय हैं. उनकी सक्रियता के हिसाब से रेटिंग भी तय होती है. यही वजह है कि अपनी रेटिंग बढ़ाने के लिए इन सबकी सक्रियता नमो ऐप पर काफी बढ़ गई है. मसलन बीजेपी युवा मोर्चा की अध्यक्ष पूनम महाजन की इस वक्त रेटिंग 19 वीं है, जबकि बीजेपी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य जयराम विप्लव की रेटिंग अभी 61 वीं है.

नमो ऐप सक्रिय रहने वाले बीजेपी युवा मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य जयराम विप्लव फर्स्टपोस्ट से बातचीत में कहते हैं, ‘नमो ऐप किसी भी राजनेता से जुड़ा सबसे बड़ा यूजर नेटवर्क वाला ऐप है. अकेले गूगल प्ले स्टोर से 10 मिलियन से ज्यादा ऐप डाउनलोड का आंकड़ा पार कर चुका है.

namo app

ट्विटर, फेसबुक और व्हाटसअप तीनों का इंटीग्रेटेड फीचर इस ऐप में है, जो यूजर्स को और उसमें भी खासतौर से पार्टी कार्यकर्ताओं को सबसे ज्यादा इसमें इंगेज करता है.’

दरअसल बीजेपी के भीतर पहले से ही इस बात के संकेत दिए जा रहे हैं, जिसमें देश भर से पार्टी के मौजूदा 268 सांसदों में से बड़े पैमाने पर लोगों के टिकट काटने की बात है. ऐसे में अब उन सांसदों के संसदीय क्षेत्र के लोगों से ही कराया जा रहा सर्वे उनकी रातों की नींद उड़ाने के लिए काफी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi