Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

एक महिला के लिए राजनीति में रहना बहुत मुश्किल है: शशिकला

जयललिता के समय में भी ऐसा था, लेकिन उन्होंने मुश्किलों पर जीत पाई.

FP Staff Updated On: Feb 12, 2017 10:01 PM IST

0
एक महिला के लिए राजनीति में रहना बहुत मुश्किल है: शशिकला

शपथ ग्रहण नहीं होने और सांसदों के साथ छोड़कर चले जाने के बीच अन्नाद्रमुक महासचिव वी.के शशिकला ने रविवार को कहा कि एक महिला के लिए राजनीति में रहना बहुत मुश्किल है जिसे उन्होंने जयललिता के समय भी ऐसा देखा था. उन्होंने इस बात पर बल दिया कि विधायक उनके साथ हैं.

उन्होंने कहा कि अन्नाद्रमुक महासचिव होने के नाते मैं कह सकती हूं कि अन्नाद्रमुक सरकार निश्चित ही अगले साढ़े चार साल तक बनी रहेगी और लोगों की सेवा करती रहेगी.

उन्होंने यहां पोएस गार्डन निवास के बाहर कहा कि सोशल मीडिया में चल रही कथित रूप से मेरे द्वारा राज्यपाल सी विद्यासागर राव को भेजी गई चिट्ठी फर्जी है. आपको भी यह देखना चाहिए. एक महिला के लिए राजनीति में रहना बहुत मुश्किल है. मैने देखा है कि जयललिता के समय में भी ऐसा था, लेकिन उन्होंने मुश्किलों पर जीत पाई.

उन्होंने कहा कि जब अन्नाद्रमुक के संस्थापक एम.जी रामचंद्रन का निधन हुआ था तब भी उन्होंने पार्टी में ऐसी उठापटक देखी थी लेकिन जयललिता बहुत चतुराई से स्थिति से निबटीं और उन्होंने यह भी पक्का किया कि बाद के चुनावों में पार्टी जीते.

शशिकला ने तब रामचंद्रन की विधवा जानकी के धड़े में होने को लेकर मुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा कि तब से, पार्टी को विभाजित करने की कोशिश हो रही है. जिन्होंने तब ऐसी कोशिशें की थी, वे आज भी वही कर रहे हैं. अन्नाद्रमुक तब जानकी और जयललिता धड़ों में बंट गई थी.

शशिकला ने कहा कि हमें ऐसी चुनौतियों की आदत पड़ गई है. विधायक मेरे साथ हैं. आज भी मैं उनसे मिलने जा रही रही हूं. शशिकला जे.जयललिता के निधन के बाद से पोएस गार्डन निवास में ही रह रही हैं. एक हफ्ते पहले ही उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया था.

मिल रहा है जमीनी कार्यकर्ताओं का साथ 

उन्होंने रविवार को चेन्नई के पास कूवाथूर में एक रिसोर्ट में ठहरे हुए पार्टी विधायकों से चर्चा की थी. सरकार गठन में उन्हें बुलाने में राज्यपाल द्वारा की जा रही देरी और 10 सांसदों के प्रतिद्वंद्वी धड़े में शामिल हो जाने पर शशिकला ने तपाक से कहा कि आप अच्छी तरह कारण जानते हैं.

पन्नीरसेल्वम द्वारा उन पर लगाए गए विभिन्न आरोपों पर उन्होंने कहा कि उपयुक्त समय पर उन्हें जवाब दिया जाएगा.

बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी के इस बयान पर कि राज्यपाल को कल तक सरकार गठन के मुद्दे पर कल तक फैसला करना होगा, वरना विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देने के आरोप को लेकर अदालती मामला दायर किया जा सकता है, अन्नाद्रमुक महासचिव ने कहा कि हम इस पर चर्चा करेंगे.

इस बीच, पार्टी के स्टार प्रचारकों को संबोधित करते शशिकला ने उन्हें आश्वासन दिया कि अन्नाद्रमुक जमीनी कार्यकर्ताओं की मदद से इस संकट से उबरेगी.

उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी और जमीनी कार्यकर्ता हमारे साथ हैं. वे इस आंदोलन की सच्ची भावना हैं. साहसी रहिए, मैं आपके साथ हूं. पार्टी के स्टार प्रचारकों में अभिनेता और गायक आदि शामिल हैं.

साभार: न्यूज़ 18 हिंदी  

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi