विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अखिलेश सरकार में सबसे बड़ी 'गौभक्त' बनी अपर्णा, संस्था पर लुटाए करोड़ों

RTI से मिली जानकारी के अनुसार, अखिलेश सरकार के 5 सालों के दौरान 8.35 करोड़ रुपये सिर्फ अपर्णा यादव की जीव आश्रय संस्था को दिया गया

Bhasha Updated On: Jul 03, 2017 02:53 PM IST

0
अखिलेश सरकार में सबसे बड़ी 'गौभक्त' बनी अपर्णा, संस्था पर लुटाए करोड़ों

आरटीआई कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने रविवार को आरोप लगाया कि अखिलेश यादव के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग द्वारा गो सेवा करने वाली संस्थाओं को दी गई वित्तीय सहायता राशि में से 86 प्रतिशत सिर्फ अपर्णा यादव के जीव आश्रय संस्था को दिया गया. यह संस्था लखनऊ के कान्हा उपवन, अमौसी में एक गोशाला का संचालन करता है.

यह जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता ठाकुर को आयोग के जन सूचना अधिकारी डॉ संजय यादव ने RTI के जवाब में दिया है. अपर्णा यादव सपा नेता मुलायम सिंह यादव के दूसरे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी है.

कुल 9.66 करोड़ में से 8.35 करोड़ सिर्फ अपर्णा यादव की संस्था को

नूतन ठाकुर ने रविवार को एक बयान जारी किया. आरटीआई से प्राप्त सूचना के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2012-2017 के पांच सालों में गोशालाओं को कुल 9.66 करोड़ रुपये का अनुदान दिया गया जिसमे 8.35 करोड़ रुपये अकेले जीव आश्रय संस्था को दिया गया जो कुल अनुदान का 86.4 प्रतिशत है. इतना ही नहीं वर्ष 2012-13, 2013-14 तथा 2014-15 में इस फंड से अकेले जीव आश्रय संस्था को ही राशि मिली जो क्रमशः 50 लाख, 1.25 करोड़ और 1.41 करोड़ रुपये थी.

उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2015-16 में जीव आश्रय को 2.58 करोड़ तथा श्रीपद बाबा गोशाला, वृंदावन को 41 लाख का अनुदान मिला जबकि 2016-17 में 3.45 करोड़ के कुल अनुदान में 2.55 करोड़ अकेले जीव आश्रय को मिला. बाकी की 4 संस्थाओं में सर्वाधिक 63 लाख रुपये श्रीपद गोशाला को मिला.

वित्तीय वर्ष 2017-18 में अब तक 1.05 करोड़ का अनुदान दिया जा चुका है लेकिन इसमें जीव आश्रय शामिल नहीं है. सर्वाधिक 63 लाख का अनुदान दयोदय गोशाला, ललितपुर को मिला है. इस बारे में अपर्णा यादव से प्रतिक्रिया जानने की कोशिश की गई लेकिन वो उपलब्ध नहीं थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi