S M L

सामाजिक समरसता को मजबूत बनाने के लिए आरएसएस कर रहा पहल

आरएसएस ने सामाजिक समरसता को मजबूत बनाने एवं सामाजिक समस्याओं के निराकरण में सहयोग के लिये प्रौढ़ स्वयंसेवकों को लगाने के साथ धर्माचार्यों का सहयोग लेने की पहल की है

Updated On: May 06, 2018 04:58 PM IST

Bhasha

0
सामाजिक समरसता को मजबूत बनाने के लिए आरएसएस कर रहा पहल

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने सामाजिक समरसता को मजबूत बनाने एवं सामाजिक समस्याओं के निराकरण में सहयोग के लिये प्रौढ़ स्वयंसेवकों को लगाने के साथ धर्माचार्यों का सहयोग लेने की पहल की है.

आरएसएस के एक वरिष्ठ प्रचारक ने बताया, ‘कुटुंब प्रबोधन पहल एवं समरसता के साथ ही स्थानीय सामाजिक प्रश्नों के समाधान की दिशा में प्रौढ़ स्वयंसेवकों की क्या भूमिका हो सकती है, इस पर योजना बन रही है.’

उन्होंने कहा कि इसमें छोटे व्यवसाय करने वालों के साथ ही चिकित्सक, इंजीनियर, अवकाश प्राप्त शासकीय कर्मचारियों का सहयोग लेने के बारे में भी विचार किया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि सेवा विभाग ने ‘सेवागाथा’ नाम से एक वेबसाइट बनाई है. इसमें सेवा क्षेत्र में होने वाले अनुभवों के आधार पर कथा लेखन किया जाएगा.

संघ के एक अन्य पदाधिकारी ने बताया कि सामाजिक समरसता को बढ़ावा देने के लिए संपर्क अधिक सघन हो और इस पहल में धर्माचार्य, पंथ, संप्रदायों के प्रमुख सहभागी होते जाएं, इस दृष्टि से ‘धर्माचार्य संपर्क’ का कार्य प्रारंभ किया गया है.

उन्होंने बताया कि मंदिरों की सामाजिक परिवर्तन में भूमिका और सामाजिक परिवर्तन में संतों का सहभाग, ऐसे दो विषयों पर अच्छी चर्चा हुई है. इसके बाद इन्हें किस प्रकार से लागू किया जा सकता है, इसके प्रयास भी प्रारंभ हुए हैं.

संघ ने ग्रामीण क्षेत्र के शाखा स्थान, साप्ताहिक मिलन एवं संघ मंडली के स्थानों में सामाजिक समरसता बैठकों का आयोजन किया है जहां सामयिक विषयों पर चर्चा की गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi