S M L

लोग बीफ खाना छोड़ देंगे तो रुक जाएगी मॉब लिंचिंग: इंद्रेश कुमार

इंद्रेश कुमार ने कहा कि इस तरह की घटनाओं से निपटने के लिए लोगों में 'संस्कार' का होना बड़ी भूमिका अदा कर सकता है

Updated On: Jul 24, 2018 09:22 AM IST

FP Staff

0
लोग बीफ खाना छोड़ देंगे तो रुक जाएगी मॉब लिंचिंग: इंद्रेश कुमार

पिछले कुछ वक्त में मॉब लिंचिंग देश में नए आतंक के रूप में उभरा है. लिंचिंग का एक अजीब सा डर है. हर तीसरे दिन कहीं न कहीं से लिंचिंग की खबर आ रही है. ये आतंक इतना बढ़ गया है कि सुप्रीम कोर्ट तक को इस पर टिप्पणी करनी पड़ी है. बहस चालू है कि क्या मॉब लिंचिंग के लिए अलग कानून बनाना चाहिए. लेकिन इसके इतर ऊंटपटांग और सिरफिरे बयान देने वालों की कमी नहीं है.

अब आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का कहना है कि लोग अगर बीफ खाना छोड़ दें तो मॉब लिंचिंग जैसी घटनाएं खत्म हो सकती हैं. उन्होंने कहा है कि इस तरह की घटनाओं से निपटने के लिए लोगों में 'संस्कार' का होना बड़ी भूमिका अदा कर सकता है.

आरएसएस नेता का ये बयान अलवर लिंचिंग के कुछ दिनों बाद आया है. आरएसएस नेता ने कहा, 'मॉब लिंचिंग को सही नहीं ठहराया जा सकता, लेकिन अगर लोग बीफ खाना छोड़ दें तो 'शैतानों' द्वारा किए जाने वाले इस तरह के अपराधों को रोका जा सकता है.'

इंद्रेश कुमार ने आगे कहा, 'कोई भी धर्म गाय को मारने की इजाज़त नहीं देता है. चाहे वो ईसाई धर्म हो या इस्लाम. ईसाई धर्म 'होली काऊ' की बात करता है, क्योंकि जीसस का जन्म खुद ही गोशाला में हुआ था. इस्लाम की बात करें तो मक्का और मदीना में आज भी गायों को मारने पर रोक है.'

इंद्रेश कुमार ने कहा कि कानून को अपना काम करना चाहिए, लेकिन इस समस्या से निपटने के लिए समाज में भी सही 'संस्कार' होना चाहिए.

रांची में हिंदू जागरण मंच की झारखंड इकाई का उद्घाटन करते हुए उन्होंने पत्रकारों से कहा कि राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले से जुड़ी मुस्लिम पार्टियां पहले ही अयोध्या में मस्जिद बनाए जाने की मांग को छोड़ चुकी हैं. उन्होंने कहा कि हिंदुओं को सांप्रदायिक कहना सभी धर्मों को सांप्रदायिक कहने जैसा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi