विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

केरल में राजनीतिक हिंसा रोकने के लिए होगी सर्वदलीय बैठक

हिंसा की हालिया घटनाओं को देखते हुए यह फैसला किया गया है कि सभी जिलों में सभी दलों के नेताओं की सर्वदलीय बैठक होगी

FP Staff Updated On: Jul 31, 2017 04:04 PM IST

0
केरल में राजनीतिक हिंसा रोकने के लिए होगी सर्वदलीय बैठक

राज्य में लगातार हो रही खूनी राजनीतिक हिंसा को रोकने के लिए केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने 6 अगस्त को सर्वदलीय बैठक बुलाई है. . केरल के सीएम ने बीजेपी और आरएसएस के नेताओं के साथ हुए बैठक के के बाद मीडिया को यह जानकरी दी.

पिछले कुछ महीनों से केरल में सीपीएम और बीजेपी-आरएसएस के कार्यकर्ताओं के बीच कई हिंसक झड़पें हो चुकी हैं. इन झड़पों में कई लोगों की मौत भी हो चुकी है.

सभी दलों ने कार्यकर्ताओं को दी हिंसा से दूर रहने के निर्देश

विजयन ने कहा कि सभी दलों के बीच शांति बैठक जिलावार होगी. सबसे पहले ये बैठक थिरुवनंतपुरम, कोट्टायम और कन्नूर जिले के नेताओं के बीच होगी. उन्होंने यह कहा कि हिंसा की हालिया घटनाओं को देखते हुए यह फैसला किया गया है कि सभी जिलों में सभी दलों के नेताओं की सर्वदलीय बैठक होगी.

खबरों के मुताबिक सभी दलों ने अपने-अपने कार्यकर्ताओं को किसी भी तरह की हिंसा से दूर रहने का निर्देश दिया है.

विजयन ने बंद कमरे में बीजेपी के राज्य अध्यक्ष कुम्मानम राजशेखरन, बीजेपी के एकमात्र विधायक और वरिष्ठ बीजेपी नेता ओ. राजगोपाल और आरएसएस के नेता पी. गोपालनकुट्टी के साथ बातचीत की. इस बैठक में सीपीएम के राज्य सचिव कोडियेरी बालाकृष्णन भी मौजूद थे.

गत 29 जुलाई को आरएसएस के नेता राजेश की हत्या कर दी गई थी. इस हत्या का आरोप सीपीएम के सदस्यों पर लगा था. लेकिन सीपीएम ने इन आरोपों को बेबुनियाद कहा था.

पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर मनीकंदन सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया है. सीपीएम का कहना है कि राजेश की हत्या की वजह व्यक्तिगत रंजिश है.

इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी विजयन से केरल में बढ़ती हुई राजनीतिक हिंसा को लेकर फोन पर बातचीत की थी. राजनाथ सिंह ने इसके बाद कहा था कि लोकतंत्र में राजनीतिक हिंसा स्वीकार्य नहीं है.

केरल के राज्यपाल पी. सथशिवम् ने भी इस मामले में मुख्यमंत्री और राज्य के डीजीपी लोकनाथ बेहरा को तलब किया था. विजयन ने राज्यपाल को यह आश्वासन दिया था कि वे बीजेपी और आरएसएस के नेताओं से इस मसले पर बातचीत करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi