S M L

राष्ट्रीय लोक दल को महागठबंधन में शामिल करने का फैसला आज शाम तक?

आज देर शाम बीएसपी सुप्रीमो मायावती और अखिलेश यादव की मुलाकात दिल्ली में तय है.

Updated On: Jan 16, 2019 02:04 PM IST

Pankaj Kumar Pankaj Kumar

0
राष्ट्रीय लोक दल को महागठबंधन में शामिल करने का फैसला आज शाम तक?

बुधवार देर शाम तक बीएसपी सुप्रीमो मायावती और अखिलेश यादव की मुलाकात दिल्ली में तय है. सूत्रों के मुताबिक अखिलेश यादव राष्ट्रीय लोकदल (रालोद ) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत फाइनल करेंगे. सूत्रों के मुताबिक रालोद कम से कम चार सीटों की मांग पर अड़ी है जबकि मायावती और अखिलेश यादव का गठबंधन उन्हें दो सीट देकर अपने पाले में लाने की फिराक में है.

12 जनवरी को हुए महागठबंधन की प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने कहा था कि 38 सीट पर समाजवादी पार्टी और 38 सीट पर बहुजन समाज पार्टी लड़ेगी. वहीं कांग्रेस के लिए रायबरेली और अमेठी में समर्थन देने का एलान करते हुए कहा था कि दो अन्य सीट वो छोटी पार्टी की झोली में डालेंगे. जाहिर है आरएलडी के साथ सीट शेयरिंग का फॉर्मुला उस समय तक सेट नहीं हो पाया था.

सूत्रों के मुताबिक अखिलेश यादव आरएलडी को लेकर ज्यादा पॉजिटिव सोच रखते हैं. अखिलेश यादव अपने कोटे से भी उन्हें 2 और सीट देकर महागठबंधन में जगह देने की इच्छा रखते हैं. जाहिर है अगर अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के बीच बातचीत सही रहा और समझौते को लेकर रजामंदी हो जाने पर शाम को रालोद के अध्यक्ष अजीत सिंह और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव मायावती से मिलने उनके आवास पर जाएंगे. इस मुलाकात के बाद महागठबंधन में रालोद इंट्री पक्की मानी जाएगी.

वैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अजित सिंह का प्रभाव काफी है. रालोद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 7 सीटों की मांग करता रहा है. सूत्रों के मुताबिक अजित सिंह 7 सीट नहीं तो 4 सीट पर हर हाल में चुनाव लड़ना चाहते हैं. ऐसे में उनकी बातचीत समाजवादी पार्टी के अलावा बीजेपी से भी चल रही है. राजनीतिक खेमों को अपने नफा और नुकसान के मुताबिक बदलने में माहिर अजित सिंह आज शाम क्या फैसला लेते हैं ये देखना दिलचस्प होगा. वैसे सपा सुप्रीमो रालोद के लिए महागठबंधन में जगह बनाने को इच्छुक हैं और दोनों की बातचीत की प्रक्रिया पूरी होने पर मायावती के यहां जाकर इसका औपचारिक तौर पर ऐलान किया जा सकता है.

फिलहाल बीजेपी इस पूरी कवायद पर पैनी नजर हुए है. बीजेपी भी रालोद के साथ गठबंधन कर महागठबंधन की राजनीति को धूल चटाने की फिराक में है. रालोद सुप्रीमो अजित सिंह इस मौके को किस हद तक अपने पक्ष में ले जा पाते हैं वो आज देर शाम तक साफ होने की उम्मीद है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi