S M L

मोदी सरकार ने 'जय जवान-जय किसान' को 'मर जवान-मर किसान' में बदला: लालू

किसानों ने अपनी रैली तो खत्म कर दी लेकिन विपक्ष मोदी सरकार पर लगातार हमलावर है

Updated On: Oct 03, 2018 09:06 AM IST

FP Staff

0
मोदी सरकार ने 'जय जवान-जय किसान' को 'मर जवान-मर किसान' में बदला: लालू

राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने किसान आंदोलन पर सरकार के रवैये की आलोचना की है. लालू ने सरकार पर किसानों के खिलाफ 'बर्बरता' दिखाने का आरोप लगाया है. दिल्ली की तरफ मार्च कर रहे हजारों किसानों पर पुलिस की ओर से लाठीचार्ज किया गया और वॉटर कैनन चलाया गया. किसानों ने अपनी रैली तो खत्म कर दी लेकिन विपक्ष मोदी सरकार पर लगातार हमलावर है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने सरकार पर तीखे हमले बोले हैं. वहीं अब लालू यादव ने भी बहुत तीखा बयान दिया है.

लालू यादव के ट्विटर पर लिखा गया कि 'अच्छे दिनों का छलावा करने वाली सरकार ने 'जय जवान-जय किसान' का नारा देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर ही 'मर जवान-मर किसान' जैसी हालत कर दी.'

उनके बेटे तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर कहा कि 'ये सरकार की निरंकुशता की पराकाष्ठा है. सरकार को इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा.' उन्होंने लिखा कि 'किसान धरती पुत्र हैं, वो तानाशाही को लाठी में लिपटाकर आसमान में फेंक देंगे और धरती में गाड़ देंगे.'

तेजस्वी ने ये भी कहा कि 'आरजेडी किसानों की मांगों का समर्थन करती है. सरकार अन्नदाताओं का अपमान कर रही है और देश को लूटने वालों को विदेश भेज रही है. उन्होंने कहा कि किसानों के साथ ऐसा सलूक बर्दाश्त नहीं होगा.'

तेजस्वी ने पीएम मोदी पर निशाने पर लेते हुए कहा कि 'अगर आपने गरीबी देखी होती तो आप किसानों पर ऐसे हमले नहीं करवाते.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi