S M L

फेसबुक विवाद: रविशंकर प्रसाद के आरोपों से कांग्रेस का इनकार

रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी से पूछा, क्या कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए डेटा चोरी और डेटा के हेरफेर पर निर्भर है?

Updated On: Mar 21, 2018 07:34 PM IST

FP Staff

0
फेसबुक विवाद: रविशंकर प्रसाद के आरोपों से कांग्रेस का इनकार

अपडेट 5: इससे पहले रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी घेरा. उन्होंने सवाल पूछा कि क्या कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए डेटा चोरी और डेटा के हेरफेर पर निर्भर है. उन्होंने पूछा कि राहुल गांधी की सोशल मीडिया प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका की क्या भूमिका है.

अपडेट 4: रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी के फेकन्यूज फैक्टरी से आज एक और झूठी खबर आ गई है. फर्जी बयान, फर्जी प्रेस कॉन्फ्रेंस और फर्जी एजेंडा बीजेपी और इनके ‘लॉ लेस’ मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद के लिए हर दिन की बात हो गई है.

अपडेट 3: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी, जेडीयू इस कंपनी की सर्विस लेती रही है. यह कंपनी ओबीआई की पार्टनर है जो बीजेपी की सहयोगी पार्टी से जुड़े नेता के बेटे की है.

अपडेट 2: कांग्रेस आईटी सेल दिव्या स्पंदन उर्फ रामया ने कहा कि पार्टी ने कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के सभी आरोपों को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने कभी भी कैम्ब्रिज की मदद नहीं ली है.’ यह कंपनी सिर्फ राइट विंग पार्टियों के साथ काम करती है, लिबरल के साथ नहीं.

अपडेट 1: फेसबुक विवाद में आखिर राहुल गांधी कैसे फंसे? दरअसल फेसबुक के साथ ब्रिटेन की कैंब्रिज एनालिटिका के साथ साठगांठ करने का आरोप है. राहुल गांधी की सोशल मीडिया प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका भी शामिल है. इस कंपनी पर अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों को भी प्रभावित करने का आरोप है.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक से करीब 5 करोड़ यूजर्स की जानकारियां लीक होने के बाद पूरे विश्व में इस मुद्दे को लेकर चर्चा चल रही है. कहा जा रहा है कि इन जानकारियों का इस्तेमाल कई देशों के चुनाव को प्रभावित करने के लिए किया गया है. इसी मुद्दे पर बोलते हुए भारत के सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने फेसबुक को कड़े शब्दों में चेतावनी दी है.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हम सोशल मीडिया पर खुले विचारों के आदान-प्रदान के समर्थक है लेकिन फेसबुक द्वारा किसी भी प्रकार से या माध्यम से भारत की चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने के प्रयास को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस बात को फेसबुक को स्पष्ट तौर पर नोट कर लेना चाहिए.

रविशंकर प्रसाद ने चेतावनी देने के लहजे में कहा कि मार्क जकरबर्ग आप भारत के आईटी मिनिस्टर की निगरानी को बेहतर ढंग से जानते हैं. अगर भारतीयों के डेटा को फेसबुक के माध्यम से चुराया जाता है, तो इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हमने अपने आईटी नियमों को कड़ा कर दिया है और जरूरत पड़ी तो आपको भारत में समन भी किया जा सकता है.

इस मामले पर उन्होंने कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी घेरा. उन्होंने सवाल पूछा कि क्या कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए डेटा चोरी और डेटा के हेरफेर पर निर्भर है. उन्होंने पूछा कि राहुल गांधी की सोशल मीडिया प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका की क्या भूमिका है.

रविशंकर प्रसाद ने पूछा कि कितने भारतीयों के डेटा को कांग्रेस ने कैंब्रिज एनालिटिका को सौंपा है. इस कंपनी पर इंग्लैंड और अमेरिका में डेटा चोरी के गंभीर आरोप लगे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि खुलासों में सामने आया है कि कंपनी ने नाइजीरिया, केन्या, ब्राजील और भारत में चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi