S M L

जिग्नेश के पक्ष में उतरे अठावले, कहा- पुणे हिंसा में उनका हाथ नहीं

मोदी सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले का मानना है कि मेवाणी का पुणे हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है. भीमा कोरेगांव युद्ध की बरसी मनाने से पहले भी इस इलाके में तनाव था

Bhasha Updated On: Jan 07, 2018 01:13 PM IST

0
जिग्नेश के पक्ष में उतरे अठावले, कहा- पुणे हिंसा में उनका हाथ नहीं

पुणे के भीमा-कोरेगांव घटना को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में अलग-अलग सुर उभर कर आ रहे हैं. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में राज्यमंत्री रामदास अठावले ने जिग्नेश मेवाणी को क्लीनचिट दी है. अठावले का मानना है कि मेवाणी का पुणे हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है.

पुणे पुलिस ने जिग्नेश मेवाणी के खिलाफ ‘भड़काऊ भाषण’ के लिए मामला दर्ज किया है. रविवार को अठावले ने कहा कि 1 जनवरी को पुणे के भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा के लिए मेवाणी जिम्मेदार नहीं हैं. दलित नेता अठावले ने कहा कि भीमा कोरेगांव युद्ध की बरसी मनाने से पहले भी इस इलाके में तनाव था.

खबर है कि 1 जनवरी को भीमा कोरेगांव में युद्ध स्मारक पर आने वाले दलितों पर हमला हुआ. दलित नेताओं ने हमलों के लिए कुछ खास हिंदुत्ववादी नेताओं को जिम्मेदार ठहराया था. जबकि इन नेताओं ने एक दिन पहले दिए गए मेवाणी के ‘भड़काऊ भाषण’ को जिम्मेदार ठहराया.

केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री अठावले ने कहा, ‘जिग्नेश भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा के लिए जिम्मेदार नहीं हैं. इस इलाके में 1 जनवरी से पहले भी तनाव था. मैंने इलाके का दौरा किया था और तनाव कम हुआ था. इसलिए मैं 31 दिसंबर को दिल्ली वापस चला गया था. इसी दिन, जिग्नेश ने पुणे के वाडा में अपना भाषण दिया था. वह भीमा कोरेगांव नहीं गए थे. कुछ संगठनों ने रात में बैठक की थी जिसके बाद 1 जनवरी को यहां हिंसा हुई थी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi