S M L

अमित शाह से मिलने उनके घर पहुंचे रामविलास और चिराग पासवान, सीट बंटवारे पर चर्चा

सीट बंटवारे के मामले पर रामविलास पासवान ने कहा कि कोई नाराजगी नहीं है. चिराग पार्लियामेंट्री बोर्ड के चेयरमैन हैं, वहीं इस संबंध में बात करेंगे

Updated On: Dec 20, 2018 06:00 PM IST

FP Staff

0
अमित शाह से मिलने उनके घर पहुंचे रामविलास और चिराग पासवान, सीट बंटवारे पर चर्चा

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) सुप्रीमो और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को एनडीए में बनाए रखने के लिए कवायद तेज हो गई है. गुरुवार शाम को रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने उनके घर पहुंचे हैं. वहां सीट बंटवारे को लेकर उनमें चर्चा जारी है.

नाराज पासवान को मनाने के लिए गुरुवार शाम को बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव मुलाकात करने वाले थे. इस दौरान सीट बंटवारे को लेकर चर्चा होनी थी. इसके बाद रामविलास पासवान और चिराग पासवान का अमित शाह से मिलने का प्लान था.

2019 लोकसभा चुनाव के लिए एलजेपी, बीजेपी से सीट बंटवारे पर स्पष्टता चाहती है. एनडीए में बिहार से एलजेपी के अलावा जेडीयू भी है. बीजेपी और और जेडीयू ने सीट बंटवारे पर काफी पहले ही चर्चा कर ली है. दोनों पार्टियां बराबर सीट पर चुनाव लड़ेंगी लेकिन एलजेपी को कितनी सीटें मिलनी है, इस पर अभी तक कोई स्पष्ट ऐलान नहीं हुआ है. 2014 लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए में शामिल हुए रामविलास पासवान ने 7 सीटों पर चुनाव लड़ा था.

सीट बंटवारे के मामले पर रामविलास पासवान ने कहा कि कोई नाराजगी नहीं है. चिराग पार्लियामेंट्री बोर्ड के चेयरमैन हैं, वहीं इस संबंध में बात करेंगे.

सीट बंटवारे पर समय रहते बात नहीं बनी तो होगा नुकसान

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से चर्चा चल रही है कि रामविलास पासवान भी आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की राह चल एनडीए से अलग हो सकते हैं. इस बात को मजबूती तब मिली जब कुछ दिन पहले ही चिराग ने ट्वीट कर सीट बंटवारे का मुद्दा उठाया था. उन्होंने लिखा कि गठबंधन में सीटों को लेकर कई बार बीजेपी के नेताओं से मुलाकात हुई परंतु अभी तक कोई ठोस बात आगे नहीं बढ़ पाई है. इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुकसान भी हो सकता है.

चिराग ने की थी राहुल गांधी की तारिफ

रामविलास पासवान के बेटे चिराग ने बुधवार को ही राहुल गांधी की तारीफ की थी. इसी के बाद कयास लगाए जाने लगे कि वो एनडीए छोड़ने का संकेत दे रहे हैं. चिराग ने कहा, 'राहुल गांधी में निश्चित ही सकारात्मक बदलाव आया है. कांग्रेस पार्टी को काफी समय बाद जीत हासिल हुई है.' पासवान ने राहुल की जीत पर कहा, 'अगर आप किसी की आलोचना करते हैं और वही अच्छा परफॉर्म करे तो उसकी तारीफ करनी चाहिए. उन्होंने मुद्दों को सही तरह से चुना.'

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'जिस तरह कांग्रेस ने किसानों और बेरोजगारों की समस्याओं का मुद्दा उठाया, वह बहुत सही समय पर किया गया फैसला था. हम केवल धर्म और मंदिर के पेचीदे मामले में ही उलझे रहे.' पासवान ने कहा, 'मैं सरकार से मांग करता हूं कि आने वाले समय में हमें एक बार फिर विकास के मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi