S M L

नागरिकता संशोधन विधेयक पर बोले राम माधव- किसी एक राज्य पर नहीं पड़ेगा बोझ

माधव ने कहा, 'हम असम के लोगों की पहचान की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं

Updated On: Jan 09, 2019 03:27 PM IST

FP Staff

0
नागरिकता संशोधन विधेयक पर बोले राम माधव- किसी एक राज्य पर नहीं पड़ेगा बोझ

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'दुर्भाग्य से एजीपी ने एनडीए छोड़ने का फैसला किया, उनकी आशंकाएं सिर्फ आशंकाएं हैं, इसमें कोई सच्चाई नहीं है.'

माधव ने कहा, 'हम असम के लोगों की पहचान की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम अपील करते हैं कि एजीपी अपने फैसले पर दोबारा विचार करे. उन्होंने कहा, 'यह 1980 से चली आ रही मांग है. हमारी सरकार ने एसटी स्टेटस का 6 समुदायों (थाई ओहम, टी ट्राइब्स और अन्य) में विस्तार करने का फैसला किया. उन्हें एक अलग आदिवासी समूह के रूप में वर्गीकृत किया जाएगा.'

माधव ने कहा, 'नागरिकता संशोधन विधेयक किसी राज्य या क्षेत्र से ही संबंधित नहीं है बल्कि यह पूरे देश के लिए है. पिछले कई दशकों में भारत ने देखा है कि पड़ोसी देशों जैसे पाकिस्तान और अफगानिस्तान से अल्पसंख्यक भारत आ रहे हैं क्योंकि उनके पास जाने के लिए कोई और जगह नहीं है.

माधव ने कहा, 'ऐसे लोग भारत में शरण चाहते हैं और यह भारत का कर्तव्य है कि वह उनके लिए नागरिकता की सुविधा का विस्तार करे. यह किसी एक क्षेत्र के लिए नहीं है. इसलिए किसी एक राज्य पर इसका बोझ नहीं पड़ेगा.'

ये भी पढ़ें: सवर्णों के 10 फीसदी कोटे पर इस पिछड़े नेता के भाषण ने दिल जीत लिया

ये भी पढ़ें: 10% आरक्षण बिल: क्या पीएम मोदी के मास्टरस्ट्रोक के आगे चित हो गया विपक्ष?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi