S M L

राज्यसभा उपसभापति चुनाव: जानिए कौन हैं हरिवंश जो हो सकते हैं एनडीए के उम्मीदवार!

राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू ने कहा है कि राज्यसभा के उपसभापति का चुनाव 9 अगस्त को करवाया जाएगा

Updated On: Aug 06, 2018 08:22 PM IST

FP Staff

0
राज्यसभा उपसभापति चुनाव: जानिए कौन हैं हरिवंश जो हो सकते हैं एनडीए के उम्मीदवार!

राज्यसभा के उपसभापति के चुनाव को लेकर संशय के बादल छंट गए हैं. राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू ने कहा है कि राज्यसभा के उपसभापति का चुनाव 9 अगस्त को करवाया जाएगा. सूत्रों की मानें तो एनडीए की तरफ से जेडीयू के सांसद हरिवंश नारायण सिंह इस पद के लिए उम्मीदवार होंगे. हरिवंश 8 अगस्त को नामांकन कर सकते हैं.

हाल ही में बीजेपी और नीतीश कुमार के बीच तनातनी की खबर के बीच इसे बीजेपी नेतृत्व का मास्टर स्ट्रोक भी कहा जा सकता है. 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इसे बीजेपी द्वारा एनडीए के कुनबे को संगठित रखने की कवायद के रूप में भी देखा जा सकता. हरिवंश को उम्मीदवार बनाकर बीजेपी भी यह भी संदेश देना चाहती है कि उसके और जेडीयू के बीच सब कुछ सही है.

245 सदस्यीय राज्यसभा में बीजेपी भले ही सबसे बड़ी पार्टी है लेकिन उसके पास उतनी संख्या नहीं है कि वो अपने दम पर किसी उम्मीदवार को जिता ले जाए. राज्यसभा में विपक्ष और यूपीए भी मजबूत स्थिति में है.

कौन हैं हरिवंश?

हरिवंश नारायण सिंह 2014 से जेडीयू की तरफ से राज्यसभा के सांसद हैं. वे पेशे से पत्रकार रह चुके हैं और प्रभात खबर अखबार के संपादक भी रह चुके हैं. हरिवंश का जन्म 30 जून, 1956 को उत्तर प्रदेश के बलिया में हुआ था. फिलहाल वो बिहार से राज्यसभा सांसद हैं. उन्होंने 1976 में बीएचयू से अर्थशास्त्र में एमए किया और 1977 में बीएचयू से ही पत्रकारिता में डिप्लोमा की डिग्री हासिल की.

वैसे तो हरिवंश सीधे तौर से राजनीति से 2014 से जुड़े हैं लेकिन वो पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के पीआरओ भी रह चुके हैं.

क्या है राज्यसभा का गणित?

राज्यसभा में कुल 245 सीटें हैं. इसमें एनडीए के पास 90 सीटें है तो यूपीए और संयुक्त विपक्ष के पास 112. अन्य दलों के पास 32 सीटें हैं, इसके अलावा 6 निर्दलीय और 4 नामांकित सांसद हैं और 1 सीट खाली है. उपसभापति के चुनाव में किसी भी दल को जीतने के लिए कुल 123 सीटें चाहिए और एनडीए और यूपीए दोनों इसके करीब हैं. इस वजह से दोनों धड़ों की निगाह अन्य दलों के सांसदों को अपने पाले में करने पर होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi