S M L

राजस्थान: 15 विधानसभा सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा पड़ा NOTA

राजस्थान में विधानसभा की 199 सीटों पर हुए चुनाव में से 15 विधानसभा क्षेत्रों में विजयी रहे उम्मीदवार के जीत के अंतर से ज्यादा वोट वहां नोटा के खाते में पड़े हैं

Updated On: Dec 12, 2018 04:36 PM IST

Bhasha

0
राजस्थान: 15 विधानसभा सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा पड़ा NOTA

राजस्थान में विधानसभा की 199 सीटों पर हुए चुनाव में से 15 विधानसभा क्षेत्रों में विजयी रहे उम्मीदवार के जीत के अंतर से ज्यादा वोट वहां नोटा के खाते में पड़े हैं. नोटा मतों के इस्तेमाल से भाजपा और कांग्रेस को सात से आठ सीटों का फायदा हुआ है. वसुंधरा राजे की नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के एक कद्दावर केबिनेट मंत्री के जीत के अंतर से अधिक नोटा मतों का इस्तेमाल किया गया.

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ ने मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र से 1,704 मतों के अंतर से जीत दर्ज की है, जबकि यहां 2,371 मतदाताओं ने नोटा मतों का उपयोग किया है. आसींद विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम मतों के अंतर से बीजेपी के उम्मीदवार जब्बार सिंह सांखला ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के मनीष मेवाडा को 154 मतों से पराजय किया है. जबकि वहां 2,943 मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया है.

पीलीबंगा में बीजेपी के धर्मेन्द्र कुमार ने कांग्रेस के विनोद कुमार को मात्र 278 मतों से पराजित किया है. वहीं मारवाड़ जंक्शन सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार खुशवीर सिंह ने बीजेपी के केसाराम चौधरी को 251 मतों से पराजित किया हैं. पीलीबंगा में 2,441 लोगों ने नोटा दबाया है जबकि मारवाड़ जंक्शन में 2,719 नोटा पड़ा है. वहीं बांसवाड़ा जिले की पांच विधानसभा क्षेत्रों में सबसे ज्यादा नोटा मतों का इस्तेमाल किया गया है.

बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा 11,002 नोटा मतों का इस्तेमाल किया गया, जबकि यहां उम्मीदवार की जीत का अंतर 18,950 था. बागीडोरा में 5,581 लोगों ने नोटा दबाया. वहीं घाटोल में 4,857, गरही में 4,594 और बांसवाड़ा में 3,876 लोगों ने नोटा का बटन दबाया. घाटोल, चौहटन, पचपदरा, आसिंद, बूंदी, पीलीबंगा, चौमू, मालवीय नगर, पोकरण, खानपुर, खेतड़ी, मकराना, मारवाड़ जंक्शन, दांतारामगढ और फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र ऐसे है, जहां उम्मीदवार की जीत के अंतर से ज्यादा नोटा का इस्तेमाल किया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi