S M L

'राजस्थान के विकास के लिए हर 5 साल में सरकार बदलने की परंपरा रुके'

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि नई पार्टी की सरकार आने पर पुरानी सरकार की सारी योजनाएं ठप पड़ जाती हैं इसलिए विकास के लिए 5 साल का कार्यकाल काफी नहीं है

Updated On: Aug 04, 2018 06:01 PM IST

Bhasha

0
'राजस्थान के विकास के लिए हर 5 साल में सरकार बदलने की परंपरा रुके'

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य के मतदाताओं से अपील की है कि वो प्रदेश में हर 5 साल में दूसरी पार्टी की सरकार बनाने की परिपाटी (परंपरा) को रोक लगाएं.

वसुंधरा शनिवार को ‍राजस्थान गौरव यात्रा की शुरुआत करते हुए कांकरोली में अपनी पहली जनसभा को संबोधित कर रहीं थी. उन्होंने कहा कि इतिहास रचने में समय लगता है यह आसानी से नहीं होता और यह तभी होगा जब 'हर 5 साल में सरकार बदलने की यहां जो परंपरा है उसे बदली जाए. हमें इसे बदलने की कोशिश करनी है.'

मुख्यमंत्री ने कहा कि नई पार्टी की सरकार आने पर पुरानी सरकार की सारी योजनाएं ठप पड़ जाती हैं.

बता दें कि बीते कुछ दशकों से राजस्थान में हर विधानसभा चुनाव में दूसरी पार्टी की सरकार आती रही है.

'बीते 5 साल में विकास की नींव रखी है उसपर भव्य इमारत बनाना है'

वसुंधरा ने कहा कि उनकी सरकार राज्य में विकास की आंधी लाना चाहती है और उसे देश में सिरमौर बनाना चाहती है. इस दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. उन्होंने कहा, 'सरकार ने बीते 5 साल में जो विकास की नींव रखी है उस पर भव्य इमारत बनाना चाहती हैं.'

उन्होंने इस अवसर पर अपनी सरकार की विभिन्न योजनाओं का जिक्र किया और कहा कि उनकी सरकार ने केवल योजनाएं ही नहीं बनाईं बल्कि जमीनी स्तर पर उनके कार्यान्वयन पर भी जोर दिया.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबी हटाओ की बात करने वालों ने विकास के लिए कुछ नहीं किया.

उन्होंने भाषण में केंद्र सरकार की अनेक योजनाओं का जिक्र किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा की. सभा को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने भी संबोधित किया. शाह ने इससे पहले यात्रा रथ (विशेष बस) को औपचारिक रूप से रवाना किया.

वसुंधरा इस यात्रा के दौरान 40 दिन तक प्रदेश की 165 विधानसभा क्षेत्रों में जाएंगी और जनसभाएं करेंगी. इससे पहले भी उन्होंने दो बड़ी यात्राओं की शुरुआत यहीं से की थी .

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi