S M L

मेओ मुस्लिम अपराधी, हिंदू लड़कियों को फंसाते हैंः बीजेपी विधायक

अलवर से बीजेपी विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि मेओ मुस्लिम समुदाय के लोग हिंदू लड़कियों को फंसा कर लव जेहाद के तहत शादी करते हैं

FP Staff Updated On: Apr 12, 2018 12:00 PM IST

0
मेओ मुस्लिम अपराधी, हिंदू लड़कियों को फंसाते हैंः बीजेपी विधायक

राजस्थान के अलवर शहर से बीजेपी विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा है कि मेओ मुस्लिम समुदाय के अधिकांश लोग अपराधी होते हैं. मैं उनसे कभी वोट नहीं मागूंगा.

सिंघल ने कहा कि मेओ मुस्लिम समुदाय के ज्यादातर लोग आपराधिक कार्यों में लिप्त हैं. चाहे वह जमीन पर कब्जा करना हो या हिंदू लड़कियों को फंसा कर लव जेहाद के तहत शादी करना. मैंने इस समुदाय से कभी भी वोट नहीं मांगा है और आगे भी कभी वोट नहीं मागूंगा. अगर मैं ऐसा करता हूं तो मैं उनके आपराधिक कृत्यों पर कानूनी कार्रवाई से बचाने के लिए नैतिक तौर पर बाध्य हो जाऊंगा.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, विधायक ने हाल ही में कहा था कि विधानसभा क्षेत्र में लव जेहाद एक बड़ा मुद्दा है. यह मेओ मुस्लिम समाज द्वारा हो रहा है. उन्होंने यह भी कहा था कि वो इस समाज के लोगों से दूरी बना कर ही रहेंगे.

सिंघल ने कहा कि जो एक अनपढ़ मुस्लिम समाज की लड़की है उसको यह पता है कि अपने धर्म के मुताबिक हिंदू समाज के लड़के से न प्यार करना है और न शादी करनी है. हमारे हिंदू समाज की बहुत पढ़ी लिखी लड़की ऐसी धर्म निरपेक्ष हो जाती है, ये कैसे भी पूरी जांच पड़ताल किए बिना मेओ समाज के लोगों के साथ शादियां कर के ऐसे शान से जा रही है.

उन्होंने यह भी कहा कि जब हिंदू लड़कियों को मेओ समाज छोड़ देता है, तो वो मदद के लिए हम जैसे नेताओं के पास आती हैं.

सिंघल ने कहा कि मैंने कुछ कहा है मैं उस पर डटा हुआ हूं. मेओ लोग हिंदू परिवार में दोस्त बनाते हैं और बाद में महिलाओं को लव जेहाद के झांसे में फंसा लेते हैं. उन्होंने कहा कि मैं केवल अलवर के मेओ मुस्लिमों के बारे में कह रहा हूं, पूरे मुस्लिम समुदाय के बारे में नहीं. उन्होंने पूछा कि क्या एक हिंदू के रूप में हिंदू समुदाय के लिए मुझे नहीं बोलना चाहिए.

ऐसा नहीं कि सिंघल ने पहली बार विवादित बयान दिया हो, इससे पहले जनवरी में उन्होंने कहा था कि मुस्लिम दर्जन भर बच्चे इसलिए पैदा कर रहे हैं जिससे वो हिंदुओं की संख्या से आगे निकल देश पर कब्जा कर ले.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi