S M L

राजस्थान के इन नेताओं की हार-जीत पर टिकी नजरें, आज खुलेगा तकदीर का पिटारा

राजस्थान में 200 में से 199 सीटों पर मतदान हुआ था, जिसके परिणाम 11 दिसंबर को सामने आएंगे.

Updated On: Dec 11, 2018 07:09 AM IST

FP Staff

0
राजस्थान के इन नेताओं की हार-जीत पर टिकी नजरें, आज खुलेगा तकदीर का पिटारा

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए 7 दिसंबर को मतदान हो चुका है और अब चुनावों के नतीजों का इंतजार किया जा रहा है. हालांकि मतगणना से पहले आए एग्जिट पोल में राजस्थान में बीजेपी की सरकार गिरने की संभावना जताई गई है तो साथ ही कांग्रेस की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने की ओर इशारा किया गया है. वहीं इस बार के चुनाव में 200 विधानसभा सीटों वाले राजस्थान के कई नेताओं पर नजरे टिकी हुई हैं. इन नेताओं की हार-जीत को वर्चस्व की लड़ाई मानी जा रही है. राजस्थान में 200 में से 199 सीटों पर मतदान हुआ था, जिसके परिणाम 11 दिसंबर को सामने आएंगे.

वसुंधरा राजे

राजस्थान में सबसे बड़ी हॉट सीट इस बार झालरापाटन है. झालावाड़ की झालरापाटन विधानसभा सीट ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मैदान में है तो वहीं राजे के सामने बीजेपी के संस्थापक रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह मैदान कांग्रेस की टिकट से मैदान में है. मानवेंद्र सिंह ने विधानसभा चुनाव से पहले ही बीजेपी को अलविदा कहकर कांग्रेस का दामन थामा था. वहीं साल 2003 से वसुंधरा इस सीट से विधानसभा चुनाव जीतती आ रही हैं.

गुलाबचंद कटारिया

राजस्थान की उदयपुर भी इस बार हॉट सीट बनी हुई है. इस सीट से बीजेपी के मंत्री गुलाबचंद कटारिया मैदान में हैं तो सामने कांग्रेस की गिरिजा व्यास हैं. कटारिया 2003 से इस सीट से जीत दर्ज करते आ रहे हैं. ऐसे में दोनों नेताओं की हार-जीत इस विधानसभा चुनाव में काफी मायने रखती हैं.

सचिन पायलट

सचिन पायलट को इस बार कांग्रेस के मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा है. ऐसे में उनकी हार-जीत पर लोगों की नजरे टिकी हुई हैं. टोंक से बीजेपी के यूनुस खान मैदान में हैं तो सामने कांग्रेस के सचिन पायलट हैं.

अशोक गहलोत

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की हार-जीत भी चुनावी रण में काफी मायने रखती हैं. राजस्थान में सरदारपुरा पर भी इस बार काफी सियासी गर्मी देखी जा रही है. जोधपुर की सरदारपुरा सीट से कांग्रेस के अशोक गहलोत चुनाव लड़ रहे हैं. यहां से गहलोत ने पिछले तीनों चुनाव जीते हैं. वहीं उनके खिलाफ बीजेपी के शंभुसिंह खेतासर हैं.

घनश्याम तिवाड़ी

बीजेपी से अलग होकर भारत वाहिनी नाम से नई पार्टी बनाने वाले वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी सांगानेर से चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट पर उनके खिलाफ बीजेपी के जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी हैं तो वहीं कांग्रेस के पुष्पेन्द्र भारद्वाज मैदान में है. ऐसे में उनके लिए चुनावी नतीजे कैसे आते हैं, यह देखने लायक रहेगा.

सीपी जोशी

नाथद्वारा से कांग्रेस के दिग्गज नेता डॉ. सीपी जोशी चुनाव मैदान में है. चार बार विधायक रहे जोशी 2008 के विधानसभा चुनाव में एक वोट से इसी सीट से हारे थे. साल 2013 में उन्होंने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा. वहीं उनके खिलाफ इस बार बीजेपी के महेश प्रताप सिंह मैदान में है. ऐसे में इस बार चुनावी नतीजे उनके लिए कैसे आते, ये देखना भी दिलचस्प रहेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi