S M L

राजस्थान चुनाव: गहलोत ने किन लोगों से दी पायलट को बचने की सलाह!

गहलोत ने सलाह दी कि वह उन दोस्तों से सतर्क रहें, जो उन्हें सीएम इन वेंटिंग के तौर पर पेश कर रहे हैं

Updated On: Feb 12, 2018 03:57 PM IST

FP Staff

0
राजस्थान चुनाव: गहलोत ने किन लोगों से दी पायलट को बचने की सलाह!

राजस्थान में कांग्रेस की तरफ से सीएम पद की दावेदारी के उम्मीदवार माने जा रहे सचिन पायलट को पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने सचेत किया है. गहलोत ने सलाह दी कि वह उन दोस्तों से सतर्क रहें, जो उन्हें सीएम इन वेंटिंग के तौर पर पेश कर रहे हैं. पूर्व सीएम गहलोत ने पायलट से यह भी कहा कि जो भी ऐसी बातें फैला रहे हैं, उन्हें सही फीडबैक नहीं मिल रहा.

गहलोत ने कहा, 'जब सचिन प्रदेश कांग्रेस कमिटी (PCC) के अध्यक्ष बनें, वो मुझसे मिलने आए. उन्हें मैंने ये बात कही थी कि आप इस बारे में ध्यान रखना.' 'न्यूज़18' से खास बातचीत में अशोक गहलोत ने ये बातें कही.

राजस्थान के पूर्व सीएम गहलोत ने कहा, 'कुछ दोस्त ऐसा भ्रम बना रहे हैं. अगर कोई इन बातों पर भरोसा करना शुरू कर दे, तो उसे सही फीडबैक नहीं मिलेगा. हमें इस तरह की चीजों को लेकर सतर्क रहना चाहिए.'

मानेंगे आलाकमान का आदेश

पिछले साल हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के बेहतर प्रदर्शन में गहलोत की अहम भूमिका थी. हालांकि, उन्होंने साफ कहा कि वे इस साल के अंत में राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी में अपने लिए कोई पद नहीं चाहते.

राजस्थान चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस उन्हें सीएम उम्मीदवार के रूप में पेश कर सकती है या नहीं, इस सवाल पर गहलोत ने कहा, 'मैं भाग्यशाली हूं कि मुझपर कांग्रेस नेता इंदिरा गांधी से लेकर राजीव गांधी, सोनिया गांधी से लेकर अब राहुल गांधी ने भरोसा जताया. मैंने किसी के लिए कभी कोई लॉबिंग नहीं की. जो भी हाई कमान ने फैसला किया, मैंने वही किया.'

हालांकि, राजस्थान में दो बार सीएम रह चुके अशोक गहलोत ने उम्मीद जताई कि अगर कांग्रेस राज्य में सत्ता बनाने में कामयाब हो जाती है, तो उन्हें कोई बड़ा पद दिया जा सकता है.

राजस्थान में हाल में दो लोकसभा सीटों और एक विधानसभा सीट पर हुए उपचुनावों में जीत के बाद कांग्रेस में उत्साह है. इस जीत के बाद खासकर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष सचिन पायलट को गहलोत के प्रतिद्वंदी के रूप में देखा जा रहा है.

सचिन पायलट और भवर जितेंद्र सिंह राजस्थान में हुए उपचुनावों में पार्टी उम्मीदवार के तौर पर मैदान में क्यों नहीं उतरे, इस सवाल पर गहलोत ने कहा, 'शायद आने वाले चुनावों को ध्यान में रखकर ऐसा किया गया है. ताकि, आगामी चुनावों में हम बेहतर प्रदर्शन कर सके.'

राजस्थान में इस बार किसकी सरकार बनेगी, इसे लेकर भी अशोक गहलोत आश्वस्त नजर आए. उन्होंने कहा कि इस साल राजस्थान की सत्ता में कांग्रेस जरूर लौटेगी. वसुंधरा राजे की यह गलतफहमी इस बार दूर हो जाएगी कि कांग्रेस नेताओं के बीच अंदरूनी मतभेद है.

(न्यूज18 के लिए सुमित पांडे की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi