S M L

ओवैसी के साथ मिलकर हिंदू-मुसलमानों के बीच दंगा भड़काना चाहती है सरकार: ठाकरे

राज ठाकरे ने आरोप लगाया है कि सरकार के पास कहने को कुछ नहीं बचा है इसलिए वो अब धर्म के नाम पर राजनीति कर सकते हैं.

Updated On: Dec 04, 2018 09:51 AM IST

FP Staff

0
ओवैसी के साथ मिलकर हिंदू-मुसलमानों के बीच दंगा भड़काना चाहती है सरकार: ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्नाण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार के पास कहने को कुछ नहीं बचा है, इसलिए वो अब धर्म के नाम पर राजनीति कर सकते हैं. ठाकरे ने आरोप लगाया है कि इसके लिए उन्होंने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के साथ डील भी की है.

सोमवार को विखरोली में एक सभा को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि 'ओवैसी के साथ मिलकर देश में दंगे भड़काने की कोशिश की गई है.' उन्होंने कहा कि, 'सरकार के पास कहने को कुछ नहीं है, इसलिए अब हिंदू- मुसलमानों के बीच दंगे करवाकर वोट मांगे जाएंगे.' ठाकरे ने कहा कि 'इसके अलावा उनके पास कोई और विकल्प नहीं बचा है.'

वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ठाकरे ने ये भी कहा कि बीजेपी और औवेसी के पक्ष से जो भी बयान सामने आ रहे हैं, उनपर गौर किया जाए तो साफ संकेत मिलते हैं कि देश में दंगा भड़काने की तैयारी है.

ठाकरे के खिलाफ मामला दर्ज

इससे पहले राज ठाकरे ने मुंबई में एक कार्यक्रम में कहा कि, 'इसमें कोई शक नहीं कि हिंदी बहुत ही सुंदर भाषा है. लेकिन यह गलत है कि हिंदी राष्ट्रभाषा है. राष्ट्रभाषा पर किसी तरह का कोई निर्णय नहीं हुआ है. जैसे हिंदी भाषा है, वैसे ही मराठी, तमिल, गुजराती और बाकी सारी भाषाएं हैं. ये सभी देश की भाषा हैं.'

ठाकरे के इस बयान को लेकर उन पर मामला भी दर्ज कराया गया है. हिंदी भाषा का कथित तौर पर अपमान करने के लिए राज ठाकरे के खिलाफ सोमवार को बिहार के मुजफ्फरपुर में मामला दर्ज कराया गया है. सीजेएम (मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी) आरती कुमारी सिंह की अदालत में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मामला दर्ज कराया. सीजेएम ने सुनवाई की अगली तारीख 12 दिसंबर तय की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi