S M L

रेलवेः अगले नौ महीने में भर दिए जाएंगे सुरक्षा से जुड़े खाली पद

गोयल ने कहा कि पहले इन पदों को भरने में एक से दो साल तक का समय लगता था. अब उसको कम कर छह से नौ महीने किया गया है

Bhasha Updated On: Dec 29, 2017 05:20 PM IST

0
रेलवेः अगले नौ महीने में भर दिए जाएंगे सुरक्षा से जुड़े खाली पद

सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सुरक्षा से जुड़े खाली पदों में से आधे पदों को तात्कालिक आधार पर भरने का फैसला किया गया है.

शुक्रवार को गोयल ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक सवालों के जवाब में कहा कि ताजा आकलन के अनुसार रेलवे में सुरक्षा से जुड़े स्वीकृत पदों में से करीब 1.3 लाख पद खाली हैं. खाली पदों में से आधे पदों को तत्काल भरे जाने का फैसला किया गया है.

गोयल ने कहा कि पहले इन पदों को भरने में एक से दो साल तक का समय लगता था. अब उसको कम कर छह से नौ महीने किया गया है.

अगले साल से आईसीएफ डिब्बों का उत्पादन बंद होगा

टक्कर रोधी उपकरण का जिक्र करते हुए गोयल ने कहा कि यह अभी परीक्षण के दौर में ही है. उन्होंने कहा कि अभी आईसीएफ और एलएचबी दो प्रकार के डिब्बों का प्रयोग किया जा रहा है.

सुरक्षा के लिहाज से एलएचबी डिब्बे स्वाभाविक रूप से बेहतर हैं. रेलवे ने फैसला किया है कि अगले साल जून के बाद आईसीएफ डिब्बों का उत्पादन नहीं किया जाएगा.

रेलवे क्रासिंगों के बारे में पूछे गए एक सवाल पर गोयल ने कहा कि अगले साल गणेश चतुर्थी तक व्यस्त मार्गों पर सभी चौकीदार रहित फाटकों को समाप्त कर दिया जाएगा.

मुगलसराय-दिल्ली रेलखंड पर बदला जाएगा पटरियों को

रेल दुर्घटनाओं के बारे में आंकड़े पेश करते हुए उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं की संख्या में उल्लेखनीय कमी आई है.

बरवाडीह-चिरमिरी रेल लाइन के बारे में पूछे एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस परियोजना को 1947 में ही स्वीकृति दी गयी थी लेकिन इस पर कोई ठोस काम नहीं हुआ. इसी साल नवंबर में इस लाइन का सर्वे कराने का फैसला किया गया है और उसकी रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

मुगलसराय-दिल्ली रेल खंड पर ट्रेनों के देर से चलने की शिकायतों पर रेल मंत्री ने कहा कि इस मार्ग पर काफी यातायात है. सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. इन कदमों में रेल पटरियों का बदलना शामिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi