S M L

2019 आम चुनाव में राहुल को पूर्वोत्तर की 25 में से 20 सीटें जीतने की उम्मीद

Rahul Gandhi ने कहा, 2019 का चुनाव Congress पार्टी जीतने जा रही है. उन्होंने कहा, मैं पूर्वोत्तर में कांग्रेस पार्टी से 20 से अधिक सीटों की उम्मीद कर रहा हूं, उससे कुछ भी कम नहीं. मेरा मानना है कि आपको 22 सीटें जीतने का प्रयास करना चाहिए

Updated On: Feb 27, 2019 11:29 AM IST

Bhasha

0
2019 आम चुनाव में राहुल को पूर्वोत्तर की 25 में से 20 सीटें जीतने की उम्मीद

कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आगामी लोकसभा चुनाव में पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र की 25 सीटों में से कम से कम 20 सीटें जीतने का लक्ष्य तय करते हुए कहा कि उनकी पार्टी आगामी चुनाव जीतेगी और उसे कोई रोक नहीं सकता.

गांधी ने सभी पूर्वोत्तर राज्यों के कांग्रेस जिला और खंड इकाई प्रमुखों को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी क्षेत्र में चुनाव लड़ते हुए तीन से चार प्रमुख मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेगी जिसमें रोजगार संकट, किसानों की समस्या और भ्रष्टाचार शामिल है.

उन्होंने कहा, ‘2019 का चुनाव कांग्रेस पार्टी जीतने जा रही है. यह वास्तविकता है और इसे कोई रोक नहीं सकता.’ उन्होंने कहा, ‘मैं पूर्वोत्तर में कांग्रेस पार्टी से 20 से अधिक सीटों की उम्मीद कर रहा हूं, उससे कुछ भी कम नहीं. यद्यपि मेरा मानना है कि आपको 22 सीटें जीतने का प्रयास करना चाहिए.’

यह भी पढ़ें- एयर स्ट्राइक पर बोले RSS प्रमुख- पुलवामा में शहीद हुए जवानों की 13वीं ठीक से पूरी हुई

कांग्रेस ने 2014 में पूर्वोत्तर में आठ सीटें जीती थीं. उसे असम में तीन, मणिपुर में दो और अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और मिजोरम में एक-एक सीट मिली थी. बीजेपी ने असम में सात लोकसभा सीट और अरुणाचल प्रदेश में एक सीट जीती थी जिसका प्रतिनिधित्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू करते हैं.

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस सदस्यों को पार्टी को सभी राज्यों में सत्ता में वापस लाने पर काम करना चाहिए जहां से उसे ‘गलत तरीके’ से बाहर कर दिया गया था.

गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस भारत और पूर्वोत्तर में तीन-चार अलग-अलग मुद्दों पर चुनाव लड़ेगी. इसमें एक नागरिकता विधेयक है. कांग्रेस का रुख स्पष्ट है कि हम इस विधेयक का विरोध करते हैं. कांग्रेस पार्टी पूर्वोत्तर के लिए खड़ी हुई और विधेयक को राज्यसभा में आने से रोक दिया.’

यह भी पढ़ें- भारतीय सेना की LOC पर जवाबी कार्रवाई, पाकिस्तान की पांच चौकियां ध्वस्त

उन्होंने एनआरसी के अपडेट को सही तरीके से लागू नहीं करने के लिए सरकार की आलोचना की और कहा कि रोजगार का संकट बड़ा मुद्दा है. उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी को कोई फिक्र नहीं है और उन्हें लोगों की समस्याओं में रुचि नहीं है. हम पूर्वोत्तर को शिक्षा का केंद्र बनाना चाहते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘भ्रष्टाचार और राफेल बड़े मुद्दे हैं. 30,000 करोड़ रुपए अनिल अंबानी को दे दिए गए. जब भी मैं 'चौकीदार' शब्द का उल्लेख करता हूं, सभी कहते हैं ‘चौकीदार चोर है.’ मैं इस देश के सभी ‘चौकीदारों’ से उनकी विश्वसनीयता को खतरे में डालने के लिए माफी मांगता हूं लेकिन मैं कह रहा हूं केवल एक ही चौकीदार चोर है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi