S M L

'गले मिलने' पर राजनीति शुरू, मुंबई कांग्रेस ने लगाया 'राहुल की झप्पी' वाला पोस्टर

कांग्रेस ने दावा किया है कि राहुल गांधी का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलना मोदी के लिए बहुत बड़ा ‘आश्चर्य’ रहा और इससे ‘नफरत और हिंसा’ की उनकी राजनीति का पर्दाफाश हो गया

Updated On: Jul 22, 2018 11:00 AM IST

FP Staff

0
'गले मिलने' पर राजनीति शुरू, मुंबई कांग्रेस ने लगाया 'राहुल की झप्पी' वाला पोस्टर

मुंबई कांग्रेस ने अंधेरी में एक पोस्टर लगाया है जिसमें राहुल गांधी का पीएम मोदी को गले लगाने वाली तस्वीर छापी गई है. पोस्टर पर इस तस्वीर के ठीक बगल में लिखा है-नफरत से नहीं, प्यार से जीतेंगे.

शुक्रवार को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट तक गए थे और उन्हें गले लगा लिया था. कांग्रेस पार्टी इस वाकये को भावी चुनावों में भुनाने में लगी है. पार्टी के कई नेता इसे नफरत बनाम प्रेम की राजनीति बता रहे हैं. मुंबई कांग्रेस के पोस्टर से कुछ यही संदेश देने की कोशिश की गई है.

कांग्रेस ने दावा किया है कि राहुल गांधी का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलना मोदी के लिए बहुत बड़ा ‘आश्चर्य’ रहा और इससे ‘नफरत और हिंसा’ की उनकी राजनीति का पर्दाफाश हो गया.

कांग्रेस ने सवाल उठाया है कि पीएम मोदी जब पाकिस्तानी नेता नवाज शरीफ से गले मिलना स्वीकार कर सकते हैं तो वह अपने ही देशवासी से गले मिलना क्यों नहीं पचा पा रहे.

पीटीआई-भाषा के मुताबिक, कांग्रेस ने यह प्रतिक्रिया तब जाहिर की जब प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान लोकसभा में उनकी सीट तक चलकर आए राहुल पर इसलिए निशाना साधा क्योंकि उन्होंने मोदी से खड़े होने का अनुरोध किया ताकि वे गले मिल सकें. मोदी ने राहुल पर निशाना साधते हुए सदन में कहा था कि लगता है कांग्रेस अध्यक्ष प्रधानमंत्री पद हथियाने की जल्दबाजी में हैं.

उधर, एनसीपी प्रमुख शरद यादव ने कहा कि लोकसभा में राहुल गांधी के प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने से अच्छा संदेश गया. पवार ने कहा, ‘एक युवा ने अपने से उम्र में बड़े व्यक्ति को गले लगाया. हर किसी को यह समझने की जरूरत है कि इससे एक अच्छा संदेश गया है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi