S M L

राहुल गांधी का प्रधानमंत्री पर प्रहार, कहा- नाकाबिल इंसान हैं नरेंद्र मोदी, किसी की नहीं सुनते

कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी और जीएसटी के संबंध में ट्वीट कर कहा, 'कांग्रेस ने भारत के विकास की कहानी गढ़ी. मोदी ने इसे पूरी तरह बर्बाद करने के लिए नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स का इस्तेमाल किया. वो एक नाकाबिल व्यक्ति हैं, जो किसी की नहीं सुनते'

Updated On: Jan 06, 2019 10:15 AM IST

FP Staff

0
राहुल गांधी का प्रधानमंत्री पर प्रहार, कहा- नाकाबिल इंसान हैं नरेंद्र मोदी, किसी की नहीं सुनते

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपने शब्दों से फिर कड़ा प्रहार किया है. उन्होंने राफेल सौदा, नोटबंदी और जीएसटी के संदर्भ में पीएम मोदी को नाकाबिल इंसान करार दिया है और कहा है कि वो किसी की सुनते नहीं.

राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर शनिवार को ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने भारत के विकास की कहानी गढ़ी. मोदी ने इसे पूरी तरह बर्बाद करने के लिए नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स का इस्तेमाल किया. वो एक नाकाबिल व्यक्ति हैं, जो किसी की नहीं सुनते.'

इतना ही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष ने फेसबुक पोस्ट से भी प्रधानमंत्री पर जुबानी वाण चलाए. उन्होंने लिखा, 'कांग्रेस सरकारों द्वारा की गई कर्ज माफी पर मोदीजी छाती पीट रहे हैं, बोला कांग्रेस के लिए किसान वोट बैंक है. अब जरा गुजरात में किसानों की हालत देखिए, बीजेपी राज में किसान संकट में है. भावनगर के किसानों ने सिंचाई और खेती पर बुरे प्रभाव के चलते माइनिंग का विरोध किया, तो गुजरात पुलिस ने किसानों का यह हाल किया. मंदसौर से भावनगर तक बीजेपी का किसान विरोधी चरित्र सामने है.'

शनिवार को ही राहुल ने अपने एक और फेसबुक पोस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जुमलेबाज करार दिया था. उन्होंने बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए लिखा, ‘ब्रेकिंग! 2018 में 1 करोड़ 10 लाख नौकरियां खत्म हो गईं. हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार का वादा करने वाले प्रधानमंत्री आज भी ‘राग जुमला’ अलाप रहे हैं.’ उन्होंने दावा किया, ‘मोदी जी ने अनिल अंबानी को चोरी करवाने के बजाय अगर देश के लिए काम किया होता तो युवाओं का भविष्य इतना असुरक्षित नहीं होता.’

बता दें कि बिजनेस टुडे ने सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की एक रिपोर्ट पर विस्तृत स्टोरी की है. जिसमें बताया गया है कि वर्ष 2018 में लगभग 1 करोड़ 10 लाख लोगों ने अपनी नौकरियां गंवाईं थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi