S M L

राहुल गांधी का MP दौरा: पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों को छोड़कर बड़े कारोबारियों की ही मदद की-राहुल गांधी

राहुल गांधी अगले दो दिनों तक मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले इलाकों में रोड शो और रैली के जरिए चुनाव प्रचार करेंगे

Updated On: Oct 15, 2018 02:36 PM IST

FP Staff

0
राहुल गांधी का MP दौरा: पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों को छोड़कर बड़े कारोबारियों की ही मदद की-राहुल गांधी
Loading...

अपडेट 6- कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- जो पैसा मोदी जी ने विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी को दिया, वही पैसा कांग्रेस सरकार युवाओं को बिजनेस खोलने के लिए देगी. बीजेपी का सच्चा नारा था - ‘बेटी पढ़ाओ और बेटी को बीजेपी के एमएलए से बचाओ’. आज मध्य प्रदेश में माताओं और बहनों के दिल में घबराहट है. राहुल ने कहा- दलितों के दिल में दर्द है. रोहित वेमुला पढ़ाई करना चाहता था लेकिन उसको दबाकर कुचला गया.

अपडेट 5- राहुल गांधी ने तंज कसते हुए कहा- चौकीदार ने 30,000 करोड़ रुपए की चोरी करवा दी. अपने मित्र अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाया. जैसे ही मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी वैसे ही मध्य प्रदेश में किसान का कर्जा 10 दिन के अंदर माफ हो जाएगा. हमारा मुख्यमंत्री 24 घंटे में से 18 घंटे युवाओं को रोजगार देने में लगा देगा.

अपडेट 4- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा- यूपीए सरकार ने राफेल लड़ाकू हवाई जहाज का कांट्रैक्ट एचएएल को दिया था. नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री बने और राफेल का कांट्रैक्ट एचएएल से छीनकर अपने मित्र अनिल अंबानी को दे दिया. एचएएल पर एक रुपया कर्जा नहीं है उल्टा सरकार ने एचएएल से 3000 करोड़ रुपए लिया. अनिल अंबानी पर 45000 करोड़ रुपए का कर्जा है. लोकसभा में मोदी जी ने डेढ़ घंटा भाषण दिया लेकिन अंबानी के बारे में, राफेल के बारे में एक शब्द नहीं कहा.

अपडेट 3- राहुल गांधी ने कहा- 70 साल पहले पूरा देश गरीब था, सड़कें, रेल लाईन, हवाई जहाज, यूनिवर्सिटी, कॉलेज ये सब नहीं था, सिर्फ हिंदुस्तान की जनता थी. मैं आज तक नरेंद्र मोदी जी के ऑफिस में सिर्फ एक बार गया हूं. मैं मोदी जी से किसानों के बारे में बात करना चाहता था. दूसरी तरफ प्रधानमंत्री जी नीरव मोदी को, मेहुल चोकसी को ‘मेहुल भाई कहते हैं. भाई 35,000 करोड़ रुपए लेकर भाग गया.

अपडेट 2- राहुल गांधी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों को छोड़कर बस बड़े कारोबारियों की ही मदद की है. उन्होंने कारोबारियों का 3.5 करोड़ का कर्ज माफ किया है. पीएम ने 15 अगस्त पर देश की छवी खराब की है. . पिछले 70 सालों में भारत ने इतनी प्रगति की है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि भारत अमेरिका का एक अहम प्रतियोगी है.

अपडेट 1- राहुल गांधी ने कहा कि देश की तरक्की में किसानों का बहुत बड़ा योगदान है. देश किसानों की वजह से ही आगे बढ़ा है. उन्होंने कहा- देश को आगे बढ़ाने में किसानों, छोटे कारोबारियों, युवाओं और महिलाओं का हाथ है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 2 दिन के चुनावी दौरे के लिए आज ग्वालियर पहुंच चुके हैं. राहुल गांधी ने अपने दौरे की शुरुआत मां पीतांबरा देवी के दर्शन से की. शक्तिपीठ में उन्होंने पूजा-अर्चना की. राहुल के साथ मंदिर में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमल नाथ भी मौजूद हैं. राहुल अगले दो दिनों तक मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले इलाकों में रोड शो और रैली के जरिए चुनाव प्रचार करेंगे. वहीं आज शाम राहुल गांधी ग्वालियर में रोड शो करेंगे. इस दौरान वह एक दरगाह में जियारत भी करेंगे.

मध्य प्रदेश के ग्वालियर क्षेत्र में विधानसभा की कुल 34 सीटें हैं. साल 2013 के चुनाव में बीजेपी ने इन 34 सीटों में से 20 सीटों पर कब्जा जमाया था. इससे साफ है कि मध्य प्रदेश में सत्ता में वापसी का सपना देख रही कांग्रेस को इस इलाके में इस बार बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा जिसके लिए पार्टी राहुल गांधी को मैदान में उतारकर उसी की तैयारी कर रही है.

क्यों गए राहुल गांधी मां पीतांबरा देवी के मंदिर-

मां पीतांबरा देवी शक्तिपीठ का अपना एक अलग इतिहास है. साल 1962 के भारत और चीन युद्ध के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने यहां पर एक बड़ा अनुष्ठान कराया था. इस मंदिर को लेकर हमेशा से नेताओं को भरोसा रहा है. पीतांबरा शक्तिपीठ उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे हुए मध्य प्रदेश के दतिया जिले में स्थित है. यह शक्तिपीठ शत्रु बाधा को शांत करने के लिए सिद्ध स्थल माना जाता है. इस शक्तिपीठ में रोज मंत्र-जाप की क्रिया चलती रहती है. वहीं राजनेता पंडितों को संकल्प देकर अनुष्ठान कराते हैं. पंडित उसी अनुष्ठान का संकल्प लेते हैं जिसमें किसी को क्षति पहुंचाने का भाव न हो.

मां पीतांबरा देवी शक्तिपीठ का इतिहास-

राजसत्ता प्राप्ति में मां की पूजा का विशेष महत्व होता है और नवरात्रि के दौरान तो यहां की रौनक देखते ही बनती है. इस शक्तिपीठ के चमत्कारों की कई कहानियां हैं. इनमें एक भारत-चीन के युद्ध से जुड़ी हुई है. दरअसल भारत-चीन युद्ध के समय यहां फौजी अधिकारियों और तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के अनुरोध पर देश की रक्षा के लिए मां बगलामुखी की प्रेरणा से 51 कुंडीय महायज्ञ कराया गया था, जिसके परिणामस्वरूप 11वें दिन अंतिम आहुति के साथ ही चीन ने अपनी सेनाएं वापस बुला ली थीं. उस समय यज्ञ के लिए बनाई गई यज्ञशाला आज भी यहां पर स्थित है. यहां लगी पट्टिका पर इस घटना का उल्लेख भी किया गया है.

राजनीतिक मुश्किलों में चल रहीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने भी कुछ महीने पहले मां पीतांबरा देवी के दर्शन किए थे. इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, अटल बिहारी बाजपेई, एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राजमाता विजय राजे सिंधिया भी शक्तिपीठ के उपासक रहे हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi