S M L

Exclusive राहुल गांधी इंटरव्यू: 2019 का चुनाव रोजगार, भ्रष्टाचार और किसानों के मुद्दे पर लड़ा जाएगा

न्यूज18 ने राहुल गांधी का इंटरव्यू लिया, जिसमें उन्होंने आगामी चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारियां और सत्ता में काबिज बीजेपी को घेरने के लिए मुद्दों समेत कई पहलुओं पर चर्चा की. पढ़ें पूरा इंटरव्यू

Updated On: Jan 13, 2019 07:04 PM IST

FP Staff

0
Exclusive राहुल गांधी इंटरव्यू: 2019 का चुनाव रोजगार, भ्रष्टाचार और किसानों के मुद्दे पर लड़ा जाएगा

आगामी लोकसभा चुनाव में अब चंद दिन ही बचे हैं. ऐसे में सभी राजनीतिक दल जोर-शोर से अपनी चुनावी तैयारियों में जुट गए हैं. चाहे बीजेपी की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं हो या उत्तर प्रदेश में एसपी-बीएपी का गठबंधन, सभी दल अपने राजनीतिक भविष्य को गढ़ने लगे हैं. इन तमाम राजनीतिक गतिविधियों पर देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस के प्रमुख राहुल गांधी के क्या विचार हैं. और आगामी चुनाव को लेकर उनकी क्या तैयारियां हैं. यह जानने की कोशिश की न्यूज18 ने.

न्यूज18 ने राहुल गांधी का इंटरव्यू लिया. जिसमें उन्होंने आगामी चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारियां और सत्ता में काबिज बीजेपी को घेरने के लिए मुद्दों समेत कई पहलुओं पर चर्चा की. पढ़ें पूरा इंटरव्यू.

पहला सवाल मेरा यह है कि आपने तमाम मुद्दे उठाए दुबई में, डोमेस्टिक भी और अंतरराष्ट्रीय भी,आपने रोजगार और असहिष्णुता का भी मुद्दा उठाया. बीजेपी का आरोप है कि आप देश की छवि खराब करते हैं विदेश में, नौटंकी करते हैं? प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन लोगों ने इमरजेंसी लगाई वह और सहिष्णुता की बात करते हैं?

हिंदुस्तान की छवि, हिंदुस्तान का फाउंडेशन इतना मजबूत है कि उसको कोई डिस्टर्ब नहीं कर सकता. मुझसे प्रेस कॉन्फ्रेंस में सवाल पूछा जाता है बेरोजगारी के बारे में भ्रष्टाचार और राफेल के बारे में मुझे जवाब तो देना ही पड़ेगा. अब मैं यह तो नहीं कह सकता कि मैं जवाब नहीं दूंगा.

मोदी जी घर बैठ जाते हैं संसद में आते नहीं है, डर जाते हैं राफेल पर डर जाते हैं. मैं तो जवाब देता हूं, हिंदुस्तान में भ्रष्टाचार बढ़ता जा रहा है, नरेंद्र मोदी जी ने अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ दे दिया है. बेरोजगारी बढ़ती जा रही है. पूरा हिंदुस्तान जानता है युवा जानता है.

किसी भी युवा से पूछो भैया क्या करते हो तो वह कहता है कुछ नहीं करता हूं. यह तो सच्चाई है सच्चाई बताने से किसी को कमजोर नहीं किया जा सकता बल्कि देश मजबूत होता है.

एक अखबार के साथ बातचीत में आपने कहा कि पीएम आपसे बात नहीं करते? पीएम जब आपके परिवार का और आप का जिक्र करते हैं तो वह कहते हैं नामदार, फोन बैंकिंग होती थी, जमानत पर रिहा परिवार, इस तरह की टिप्पणी पर आपको क्या लगता है?

देखिए जो नरेंद्र मोदी जी कहते हैं वह जाने, मैं जो करता हूं मैं जो कहता हूं ,मैं प्यार से बात करता हूं उनके बारे में भी मैं कहता हूं, आदर से बात करता हूं, गलत शब्द का प्रयोग नहीं करता. आपने मेरे भाषण सुने हैं, आप चलते हैं हमारे साथ, मैं उनके बारे में गलत नहीं कहता, सच्चाई बोलता हूं. मैं यह बोलता हूं कि नरेंद्र मोदी जी ने अंबानी की मदद की, 30 हजार करोड़ चोरी करवाया. और यह मैं प्यार से कहता हूं.

मैं यह बोलता हूं कि बेरोजगारी है मैं कहता हूं कि पीएम ने किसानों का कर्जा माफ नहीं किया, झूठ बोला ,हर भाषण में कहते थे किसानों की मदद करूंगा लेकिन नहीं किया. हमने कहा था कि हम 10 दिन के अंदर राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ का किसानों का कर्ज माफ करेंगे ,हमने 2 दिन में किया. हम जो सोचते हैं वह करते हैं हम झूठ नहीं बोलते. जो हमारे दिल में होता है हम वह बोलते हैं और वही करते हैं, हम झूठ नहीं बोलते.

आपने लगातार संवैधानिक संस्थाओं पर हमले का सवाल उठाया, 3 साल पहले आपने कहा कि यह सरकार संवैधानिक संस्थाओं के साथ टकराव कर रही है, आपने सीबीआई चीफ का मामला देखा?

आप मुझे बताइए कि सीबीआई चीफ को दो बार हटाने की जल्दी क्या थी? मतलब क्या जल्दी थी कि एक बार डेढ़ बजे रात को, पीएम लिख रहे हैं कि भैया इसको 1:30 बजे रात को जल्दी हटाओ. फिर सुप्रीम कोर्ट कहता है कि इनको वापस लाओ. और उसके चंद घंटों के अंदर प्रधानमंत्री कहते हैं कि सीबीआई चीफ को फिर निकालो. क्यों इसका क्या कारण है?

कोई और नहीं कहता सरकार में कि सीबीआई चीफ को हटाओ, गडकरी जी, सुषमा जी, अरुण जेटली जी नहीं कहते सिर्फ नरेंद्र मोदी जी कह रहे हैं कि भैया इसको हटाओ.

क्या कारण हो सकता है? पूरा देश जानता है कि सीबीआई के चीफ राफेल पर जांच करने जा रहे थे. पूरा देश जानता है कि उन पर दबाव डाला जा रहा था. पूरा देश जानता है कि जब उन्होंने इंक्वायरी डालने का काम शुरू किया तो नरेंद्र मोदी ने उनको हटा दिया.

अब क्यों हटाया राहुल गांधी जवाब नहीं दे सकता यह तो नरेंद्र मोदी को जवाब देना होगा. बात साफ है एचएएल हवाई जहाज बनाना जानती है. 70 साल से जहाज बना रही है. अनिल अंबानी हवाई जहाज बनाना नहीं जानता है. पता नहीं कैसे अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट प्रधानमंत्री मोदी ने थमा दिया.

प्रधानमंत्री मेरिट की बात करते हैं, नामदार की बात करते हैं, आप बताइए अनिल अंबानी में क्या मेरिट है? हवाई जहाज बनाने में क्या जानते हैं वह? HAL को क्यों नहीं दिया? हिंदुस्तान में अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ा रखी है. किसी भी छोटे दुकानदार से आप पूछिए, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की बात करिए, मतलब मजाक बना रखा है. किसी दुकानदार से पूछिए वह हाथ जोड़कर कहता है कि पहले पहले नरेंद्र मोदी को हटाओ, यही हिंदुस्तान की सच्चाई है.

आप तो हर भाषण में कहते हैं कि 2019 में मोदी को हटा देंगे?

हटा देंगे, मैं नहीं हटाऊंगा, हिंदुस्तान की जनता हटा देगी. हिंदुस्तान के किसान छोटे दुकानदार और युवा. नरेंद्र मोदी जी ने वायदा किया था पांच साल में हिंदुस्तान को बदल दूंगा बदल दिया लेकिन गलत तरीके से.

जो भरोसा लोगों में था, मुझे याद है जो भरोसा युवाओं में था वह आज टूट गया. मुझसे बात करते हैं कहते हैं कि मेरा बेवकूफ बना दिया मोदी जी ने. हमारा टाइम जाया किया नरेंद्र मोदी जी ने. हम अब इन को निकालने वाले हैं यह हिंदुस्तान की भावना है.

एक महागठबंधन पर सवाल है, अखिलेश यादव से आपकी इतनी अच्छी बातचीत थी, क्या उन्होंने इस महागठबंधन के ऐलान से पहले आपसे बात की? क्या थोड़े निराश हैं?

नहीं, उन्होंने न कांग्रेस पार्टी से, न मुझसे और न हीं हमारे लोगों से कोई बात की. मगर देखिए मैंने कहा है कि यह एक राजनीतिक फैसला है. उन्होंने अपना राजनीतिक फैसला लिया और हम उनका आदर करते हैं. मैं मायावती जी का आदर करता हूं अखिलेश यादव का मुलायम सिंह यादव जी का आदर करता हूं. लेकिन अब हमें अपना काम भी करना पड़ेगा. हमें, कांग्रेस पार्टी को उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ना पड़ेगा और पूरे दम से लड़ना पड़ेगा.

हम पीछे हट के नहीं लड़ेंगे, पूरी ताकत के साथ पूरे दम के साथ हर सीट पर कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ेगी. और मेरी यह सोच है शायद गलत हो सकती है लेकिन मेरी सोच है कि मायावती जी ने और मुलायम सिंह यादव ने कांग्रेस पार्टी को अंडरस्टीमेट किया है. कांग्रेस पार्टी की जो यूटिलिटी है उसको उन्होंने पहचाना नहीं है. अब देखते हैं क्या होता है.

मेरा आखिरी सवाल है कि 2019 का नैरेटिव अब क्या होगा? कभी राम मंदिर का मुद्दा उछलता है कभी?

2019 का बहुत ही साधारण सा नैरेटिव है भाई रोजगार, भ्रष्टाचार और किसानों की जिंदगी बदलना. यह तीन प्रमुख मुद्दे हैं हमारे. राफेल भी एक बहुत बड़ा मुद्दा है. दो और मुद्दे हैं शिक्षा और स्वास्थ्य कम से कम पैसे में, हिंदुस्तान के हर नागरिक को दिलवाना.

यह बेसिक फाउंडेशन है और जो वायदे नरेंद्र मोदी ने किए थे, जो खोखले निकले, झूठे निकले, उन पर भी सवाल उठेंगे. नरेंद्र मोदी का जो कैरेक्टर है, मोदी जी ने HAL के वर्कर्स जो है, जिन्होंने अपना खून पसीना और अपनी जिंदगी दी है उनको परे करके राफेल का कॉन्ट्रैक्ट अनिल अंबानी को क्यों दिया यह बड़ा सवाल होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi