S M L

नोटबंदी से हुई सौ मौतों के लिए नरेंद्र मोदी जिम्मेदार: राहुल गांधी

राहुल गांधी का प्रधानमंत्री पर हमला, कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सौ मौतों के जिम्मेदार

Updated On: Dec 17, 2016 04:41 PM IST

FP Staff

0
नोटबंदी से हुई सौ मौतों के लिए नरेंद्र मोदी जिम्मेदार: राहुल गांधी

नोटबंदी के खिलाफ कर्नाटक के बेलगाम में आयोजित रैली में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जबरदस्त हमला बोला. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटबंदी के चलते हुई 100 मौतों का जिम्मेदार ठहराया. नोटबंदी को उन्होंने 'मोदी-मेड डिजास्टर' यानी मोदी की लाई हुई तबाही बताया.

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने देश को बांटने का काम किया है. उनका कहना है कि देश की कुल संपत्ति का 60 प्रतिशत धन एक प्रतिशत लोगों के पास है.

राहुल ने सवाल किया कि '100 लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन है. नोटबंदी से हुई मौतों के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं. कांग्रेस देश से भ्रष्टाचार हटाना चाहती है. नोटबंदी का फैसला भ्रष्टाचार के खिलाफ नहीं है. प्रधानमंत्री ने किसानों की मदद नहीं की. मोदी जी ने मनरेगा का मजाक उड़ाया.'

राहुल ने मोदी से सीधा सवाल किया, 'माल्या का 1200 करोड़ क्यों माफ किया? उनको 1200 करोड़ की टॉफी क्यों खिलाई. जानबूझ कर 94 प्रतिशत काले धन के पीछे नहीं गए, 6 प्रतिशत कालेधन के पीछे दौड़े. चोरों के पीछे नहीं गए, मजदूरों, गरीबों के पीछे दौड़े. मारना उनको था, मारा इनको.'

बोले, लाइन में खड़े गरीबों को मोदी जी ने चोर कहा

राहुल ने जनता को संबोधित करते हुए कहा, 'मोदी जी ने कहा, लाइन में चोर खड़े हैं. पूरा देश लाइन में खड़ा था. महिलाएं, गरीब किसान. मोदी जी कहते हैं कि लाइन में चोर खड़े हैं. आप हमें बताओ कि लाइन में खड़े लोग चोर थे या ईमानदार लोग थे. आपने पूरे देश की जनता को लाइन में खड़ा कर दिया.'

उन्होंने कहा, 'मुझसे किसी ने पूछा, नरेंद्र मोदी जी ने कहा था कि 15 लाख मिलेंगे, मुझे तो एक पैसा नहीं मिला. नरेंद्र मोदी जी झूठ बोलते हैं.'

राहुल ने जनता को इशारा करते हुए कहा, 'इन्हीं लोगों ने नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाया है, इन्हीं के पैसे ने उनको बनाया है. इनका पैसा मोदी वापस नहीं ले सकते. मोदी जी ने एक नया तरीका निकाला. उन्होंने सोचा कि गरीब की जेब से निकाल लूंगा. उन्होंने गरीबों का पैसा बैंक में डलवा दिया. गरीबों का पैसा खींचो, अमीरों को पैसा सींचो. 99 प्रतिशत लोगों से पैसा लो, एक प्रतिशत लोगों को पैसा दो.'

आठ लाख करोड़ अमीरों को दिया जाएगा

राहुल ने कहा, 'अगर मोदी जी समय से नोट छपवा लेते तो आपका पैसा बैंक में रहता? नहीं रहता. पैसा निकालने की सीमा नहीं होती तो आप अपना पैसा निकाल सकते थे. लेकिन तब मोदी का प्लान फेल हो जाता. जैसे उन्होंने कॉरपोरेट का लाखों करोड़ माफ कर दिया, वह नहीं कर पाते. जैसे माल्या का 1200 करोड़ माफ कर दिया, नहीं कर पाते.'

राहुल ने फिर से सूटबूट की सरकार का आरोप दोहराते हुए कहा, 'उन्होंने 50 दिन का समय मांगा है. कुछ ठीक नहीं होगा, लिखकर ले लो. आज से कुछ दिन बाद गरीबों का पैसा अमीरों को जाएगा. आठ लाख करोड़ पैसा अमीरों को दिया जाएगा. उन 50 लोगों का पैसा माफ होगा. यही सूटबूट की सरकार है. बैंक चलेंगे आपके पैसे के बल पर.'

उन्होंने कहा, 'मोदी जी ने कालेधन से शुरुआत की. बोले जो कालाधन वापस आएगा वो गरीबों को दूंगा. 13 लाख करोड़ से ज्यादा वापस आ गया. सारा पैसा वापस आ गया. अब वे कालेधन पर बात नहीं कर रहे. आतंकवाद के खिलाफ बोलते हैं, दो दिन बाद आतंकवादियों के जेब में नये नोट मिले. वे कैशलेस इकॉनॉमी की बात करते हैं. आप दुकान से सामान लेते हैं, कोई और कमीशन नहीं लेता. आप आॅनलाइन खरीदारी करेंगे तो जादू से 5 प्रतिशत कट जाएगा. वो उन्हीं 50 लोगों को जाएगा. यही है कैशलेस इकोनॉमी है.'

कांग्रेस निकलवाएगी जवाब

राहुल ने कहा, 'मैने राज्यसभा में पूछा, नकली पैसे कितने हैं. उनके मंत्री कहते हैं कि सौ रुपये में 2 पैसे नकली हैं. अब वे नकली पैसे की बात नहीं करते. मोदी जी आप भाग नहीं सकते. आपको जवाब देना पड़ेगा. कांग्रेस पार्टी आपसे जवाब निकलवाएगी.'

उन्होंने भाजपा के पूर्व मंत्री रेड्डी की चर्चित 500 करोड़ की शादी का भी जिक्र किया. उन्होंने भाजपा की ओर से हर जिले जमीनें खरीदने पर भी हमला बोला.

राहुल ने आरोप लगाया कि 'मोदी ने जिसको बताना था, मोदी ने पहले ही बता दिया था. नोटबंदी के पहले 6 लाख करोड़ जमा हुआ. इतना पैसा कभी बैंकों में जमा नहीं हुआ था. यह पैसा मोदी के दोस्तों और उनकी पार्टी के लोगों का है. यह सच्चाई हम देश को बताएंगे.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi