S M L

राहुल गांधी ने नोटबंदी को बताया आर्थिक डकैती

राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री के नोटबंदी के फैसले से गरीबों पर जबरदस्त चोट पड़ी है.

Updated On: Dec 23, 2016 05:53 PM IST

FP Staff

0
राहुल गांधी ने नोटबंदी को बताया आर्थिक डकैती

उत्तराखंड के अल्मोड़ा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक रैली के फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए नोटबंदी के फैसले से गरीबों पर जबरदस्त चोट पड़ी है.

राहुल गांधी ने नोटबंदी को आर्थिक डकैती बताते हुए आरोप लगाया कि नोटबंदी के कारण सौ से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. सौ लोगों की मौत पर संसद में दो मिनट का मौन नहीं रखने दिया गया.

अल्मोड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'मोदी जी, गरीब लोग अपनी पूरी जिंदगी दे देते हैं. कुछ बनाने में. कोई घर बनाता है, खून पसीना देकर, काम करके, कोई अपने माता पिता का इलाज करता है, आपके इस निर्णय ने इन गरीब लोगों पर जबरदस्त चोट मारी. हिंदुस्तान के किसान, मजदूरों और मिडिल क्लास के लोगों पर जबरदस्त चोट मारी.'

फिर शायराना हुए राहुल

राहुल गांधी ने शायर बशीर बद्र का को याद करते हुए प्रधानमंत्री पर तंज किया, 'लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में, तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में.'

राहुल ने आरोप लगाया, 'प्रधानमंत्री मोदी ने एक लाख 10 हजार करोड़ का कॉरपोरेट का कर्जा माफ कर दिया लेकिन किसानों का कर्जा माफ नहीं किया. उन्होंने संसद में मजदूरों का मजाक उड़ाया कि मजदूर गड्ढा खोदते हैं. मोदी जी, मजदूर गड्ढा नहीं खोदते, वे बनाते हैं.'

राहुल ने कहा, 'मोदी जी, हिंदुस्तान को आपने दो भागों में बांट दिया. एक तरफ सुपर रिच यानी 50 लोग, दूसरी तरफ 99 प्रतिशत जनता, जो मजदूरी करते हैं, नौकरी करते हैं, खेती करते हैं.'

50 परिवारों के पास 60 प्रतिशत संपत्ति

राहुल गांधी पिछले कुछ भाषणों में प्रधानमंत्री पर लगातार हमले कर रहे हैं. उन्होंने अपने आरोपों को दोहराते हुए कहा, 'एक साल में आपने 50 परिवारों को देश का 60 प्रतिशत धन दिलवा दिया है. ये कौन लोग हैं? ये वही लोग हैं, जो आपके साथ विदेश यात्रा करते हैं और आप उन्हें बड़े बड़े कान्ट्रैक्ट देते हैं.'

केंद्र के काले धन के खिलाफ अभियान पर सवाल उठाते हुए राहुल ने कहा, 'काला धन आम लोगों के पास नहीं है. सारा कैश काला धन नहीं है और सारा काला धन कैश नहीं है. ज्यादा से ज्यादा काला धन बिल्डिंग में, बिजनेस में, सोने के रूप में, जमीन में और स्विस बैंक में है. सिर्फ छह प्रतिशत काला धन कैश में है. 94 प्रतिशत काला धन एक प्रतिशत लोगों के पास है. पता नहीं क्यों मोदी जी ने अपना निशाना एक प्रतिशत अमीर पर नहीं, 99 प्रतिशत ईमानदार जनता पर लगा रक्खा है.'

किसी को 15 लाख मिले?

नोटबंदी को गरीब, किसान और आम जनता के खिलाफ बताते हुए राहुल ने कहा, 'मोदी जी ने अपना निशाना गरीबों पर लगाया है. 94 प्रतिशत काला धन स्विस बैंक में है यह मोदी जी जानते हैं. उन्होंने चुनाव में पूरे देश से कहा था कि विदेश बैंक में लाखों करोड़ पड़ा है, चोरी का पैसा है, नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनेगा तो उसे वापस लाएगा. सबके अकाउंट में 15 लाख रुपये आएंगे. आप बताएं किसी को मिला?'

उन्होंने जनसभा में मौजूद लोगों से पूछा, 'आप बताइए कितने काले धन वालों मोदी जी ने जेल में डाला? किसी को नहीं. स्विस सरकार ने बैंक अकाउंट होल्डर्स के नाम हिंदुस्तान की सरकार को दे रखे हैं. ये सरकार के मंत्री ने संसद में कहा है. अब मैं उनसे पूछ रहा हूं कि इन चोरों के नाम आपने राज्य सभा और लोकसभा में क्यों रखे हैं? हम जानना चाहते हैं कि ये चोर कौन हैं?'

सूटबूट की सरकार

राहुल ने कहा, 'मोदी जी ने उत्तराखंड के हिस्से का पैसा उसे नहीं दिया, लेकिन नोटबंदी के बाद विजय माल्या को 1200 करोड़ की टॉफी खिलाई. उत्तराखंड की जनता से छीना और माल्या को दिया. ये है सूटबूट सरकार की सच्चाई. '

राहुल ने नोटबंदी और कैशलेस लेनदेन पर सवाल उठाते हुए कहा, 'किसान बीज खरीदता है, खाद खरीदता है, कैश में खरीदता है. उसका कैश आपने जलाया. मजदूर दिन भर काम करता है, शाम को पैसा कैश में मिलता है. उसकी कमाई आपने जलाई. ट्रांसपोर्ट में आपने आग लगाई, टूरिज्म को आपने खत्म किया. फैक्ट्रियों से मजदूरों को हटा दिया गया.  मोदी जी ने वादा किया था कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार दूंगा. कहां गया वो वायदा?'

राहुल ने आरोप लगाया, 'नोटबंदी की लड़ाई काले धन के खिलाफ नहीं थी. पिछले ढाई साल में मोदी जी ने 50 परिवारों का एक लाख 40 हजार करोड़ माफ किया है. उनका आठ लाख करोड़ बाकी है. उन्हीं 50 परिवारों ने बैंकों से कर्ज ले रखा है. नरेंद्र मोदी जी इनसे कर्ज नहीं वसूल सकते. क्योंकि इन्हीं 50 परिवारों ने मोदी जी को बनाया है. नरेंद्र मोदी जी चाहते हैं कि आपका पैसा बैंकों में जाए, आपके उस पैसे से 50 परिवारों का कर्ज माफ करना चाहते हैं. गरीबों से पैसा खींचो, अमीरों को सींचो.'

राहुल गांधी ने सहारा और बिड़ला प्रकरण का भी जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप दोहराया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi