S M L

मोदी ने 99 फीसदी लोगों की रगों से खून खींच लिया: राहुल

राहुल गांधी ने जौनपुर में पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर फिर हमला बोला.

Updated On: Dec 20, 2016 02:54 PM IST

FP Staff

0
मोदी ने 99 फीसदी लोगों की रगों से खून खींच लिया: राहुल

नोटबंदी के बाद से काफी आक्रामक नजर आ रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के जौनपुर में पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला.

राहुल गांधी ने कहा कि 'नोटबंदी का फैसला भारत के 90 फीसदी लोगों, किसानों व मजदूरों के खिलाफ है. उनसे मंजूरी लिए बिना मोदी ने उनकी रगों से खून निकाल लिया.'

एक रैली के दौरान राहुल ने लोगों को मोदी के खिलाफ 'मुर्दाबाद' के नारे लगाने से रोकते हुए कहा कि वह प्रधानमंत्री हैं और हमें किसी के लिए भी 'मुर्दाबाद' शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि नोटबंदी न तो भ्रष्टाचार और न ही काले धन के खिलाफ है. हम भ्रष्टाचार को भारत से उखाड़ फेंकना चाहते हैं. यदि सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ कोई फैसला लेगी, तो हम उसका 100 फीसदी समर्थन करेंगे. देश में मौजूद 86 फीसदी नकदी को अमान्य करने का फैसला गरीबों के खिलाफ है.'

देश में 50 परिवारों के पास सबसे ज्यादा पैसा

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, नोटबंदी गरीबों का पैसा खींच कर अमीरों को सींचने के लिए की गई. प्रधानमंत्री मोदी पर सीधा हमला करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर गरीबों का पैसा छीन कर अमीरों का कर्ज माफ करने का आरोप लगाया.

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि 'नोटबंदी का फैसला भ्रष्टाचार के खिलाफ नहीं है, बल्कि किसानों और गरीबों के खिलाफ है. मैंने मोदी जी से कहा कि किसानों का कर्जा माफ कीजिए लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया, एक शब्द नहीं कहा. देश की जनता का 60 फीसदी पैसा बटोर कर एक फीसदी लोगों को दे दिया गया. देश में 50 परिवारों के पास सबसे ज्यादा पैसा है. इन्हीं परिवारों के लोग पीएम के साथ विदेश घूमने जाते हैं.'

'गरीबों का पैसा खींचो, अमीरों को सींचो'

उन्होंने सरकार के खिलाफ 'गरीबों का पैसा खींचो, अमीरों को सींचो' का नारा फिर दोहराते हुए कहा, कि 'नरेंद्र मोदी जी को मालूम था कि कोई काला धन नहीं आएगा. संसद में हमने सवाल किया तो मोदी के मंत्री ने संसद में कहा कि सौ रुपये में मात्र दो पैसे नकली हैं. नोटबंदी के दो ही दिन बाद आतंकवादी के पास दो हजार के नकली नोट मिले. अब वे न काले धन की बात करते हैं, न ही आतंकवाद की बात करते हैं. अब वे कैशलेस इकोनॉमी की बात करते हैं.'

रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, 'गरीबों पर ये फायर बॉम्बिंग क्यों की, मैं बताता हूं कि गरीबों को चोट देने का लक्ष्य क्या था. उन्हीं 50 परिवारों ने, एक प्रतिशत अमीर लोगों ने बैंकों से लाखों करोड़ का कर्ज लिया हुआ है. मोदी ने स्वयं एक लाख दस हजार करोड़ माफ किया है. जब किसान पर कर्ज होता है, वह समय पर वापस नहीं देता तो आप उसे जेल में डाल देते हैं. लेकिन 50 परिवारों के लोग बैंक का पैसा नहीं देते तो उन्हें डिफाल्टर कहते हो और उनका कर्ज माफ कर देते हैं. इन 50 परिवारों ने आठ लाख करोड़ हिंदुस्तान के बैंक से ले रखा है और वापस नहीं दे रहे. नरेंद्र मोदी ने उनसे पैसा वापस नहीं ले सकते.'

अमीरों का कर्ज माफ करने के लिए की नोटबंदी

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, 'अमीरों का कर्ज माफ करने के लिए मोदी ने नया तरीका निकाला. बैंक को चालू करने का नया तरीका. उनका पैसा माफ करने का नया तरीका. मोदी ने गरीब की जेब से पैसा छीना और बैंक में डलवाया. आने वाले समय में मोदी उन 50 परिवारों का आठ लाख करोड़ माफ करेंगे. गरीबों का पैसा खींचो और अमीरों को सींचो, यही है नोटबंदी.'

उन्होंने नोटबंदी की योजना पर प्रहार करते हुए कहा, 'कुछ लोग कहते हैं कि निर्णय ठीक था, प्लानिंग खराब. मैं कहता हूं मोदी की प्लानिंग खराब नहीं थी. पूरी प्लानिंंग थी. मोदी का लक्ष्य है कि जनता का पैसा ज्यादा से ज्यादा बैंक में रहे, तभी उस पैसे का प्रयोग अमीरों का कर्ज माफ करने में किया जा सकता है.'

60 फीसदी धन एक प्रतिशत लोगों के पास

राहुल गांधी ने नोटबंदी के निर्णय पर हमला करते हुए कहा, 'मोदी ने देश के 60 फीसदी धन को एक फीसदी लोगों में बांट दिया है. काला धन जो विदेशों से लाना था, वह कहां है? उसे कब लाया जा रहा है?' कैशलेस इकोनॉमी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, 'हम कैशलेस इकोनॉमी के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन जनता पर इसे थोपा नहीं जाना चाहिए.'

राहुल ने कहा, मोदी जी ने बताया कि नोटबंदी का निर्णय गोपनीय था. अब मोदी जी बताएं तो आपके भाषण के पहले बंगाल भाजपा ने अपना सारा पैसा बैंक में क्यों जमा कराया? अगर आपने किसी को नहीं बताया तो आपकी पार्टी ने हर जिले में जमीन क्यों खरीदी? आपके निर्णय से ठीक पहले देश भर के बैंकों में जितना पैसा जमा हुआ, उतना पैसा कभी नहीं जमा हुआ था? यह कैसे हुआ, इसका जवाब दीजिए.'

राहुल ने कार्यकर्ताओं से कहा कि 'नोटबंदी की सच्चाई पूरे देश को बताइए कि आपकी जेब के पैसे पर नरेंद्र मोदी जी ने छापा मारा है. आपके पैसे से 50 अमीरों का कर्ज माफ होने जा रहा है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi