S M L

हिंदू आतंकवाद की बात करने के लिए राहुल गांधी माफी मांगें: अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘लेकिन वह ऐसा करेंगें नहीं. इसलिए हमें यह बात जन जन तक ले जाना है कि कांग्रेस समाज के विभाजन के लिए झूठ के पुलिंदे चला रही है.’

Updated On: May 04, 2018 06:37 PM IST

Bhasha

0
हिंदू आतंकवाद की बात करने के लिए राहुल गांधी माफी मांगें: अमित शाह

बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि हिंदू आतंकवाद की बात करके कांग्रेस ने भारतीय संस्कृति और हिंदू संस्कृति को दुनियाभर में बदनाम करने का काम किया है और इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश के हिंदू समाज से माफी मांगनी चाहिए.

शाह ने यहां भेल दशहरा मैदान में बीजेपी की प्रदेशस्तरीय विस्तारित बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही.

उन्होंने साल 2007 के मक्का मस्जिद बम विस्फोट कांड में हैदराबाद की एक अदालत द्वारा हाल ही में असीमानंद समेत पांच आरोपियों को दोषमुक्त किए जाने का उल्लेख करते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा, ‘आतंकवाद को हिंदू आतंकवाद का नाम देकर दुनिया भर में भारतीय संस्कृति और हिंदू संस्कृति को बदनाम करने का काम कांग्रेस ने किया है.’

शाह ने कहा, ‘इसके तहत कुछ लोगों पर मामले दर्ज किए गए. लेकिन क्या हुआ? हैदराबाद की अदालत ने कहा कि पूरा मुकदमा राजनीतिक कारणों से बनाया गया है और उसने इसमें फंसे सारे लोगों को मुक्त कर दिया.’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस और उसके अध्यक्ष जो 2014 के चुनाव में देश भर में हिंदू टेरर, हिंदू टेरर बोलते थकते नहीं थे. मैं राहुल गांधी को कहना चाहता हूं कि जिस प्रकार हिंदू संस्कृति को आपने बदनाम किया है और जिस प्रकार से भारत के सम्मान को दुनिया में नीचा दिखाने का काम किया है, उसके लिए उन्हें देश के हिंदू समाज से माफी मांगनी चाहिए.’

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘लेकिन वह ऐसा करेंगें नहीं. इसलिए हमें यह बात जन जन तक ले जाना है कि कांग्रेस समाज के विभाजन के लिए झूठ के पुलिंदे चला रही है.’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरे देश के अंदर विभाजन की राजनीति करती है. पूरे देश के अंदर जातियों को बांटने की राजनीति करती है.

शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछड़े समाज के लिए एक बिल लेकर आये जिसके तहत पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा मिलना था. यह विधेयक लोकसभा में पास हो गया लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस इस विधेयक के आड़े आ गयी और इसे पास नहीं होने दिया.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने इस विधेयक का विरोध किया और मांग की कि अल्पसंख्यक वर्ग को भी इस विधेयक के तहत शामिल किया जाए. उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा कि यह बात जन जन तक पहुंचाएं और कांग्रेस और उसके नेताओं को जनता के सामने बेनकाब करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi