S M L

दोस्ती मजबूत करने के लिए एक साथ 'मेगा' रैली में शामिल होंगे नायडू और राहुल

सूत्रों ने बताया कि यह एक संयुक्त रैली होगी. इसमें दोनों पार्टियों के बड़े नेता हिस्सा लेंगे. मिली जानकारी के मुताबिक, यह रैली नवंबर के अंतिम सप्ताह में हैदराबाद में होगी

Updated On: Nov 17, 2018 04:06 PM IST

FP Staff

0
दोस्ती मजबूत करने के लिए एक साथ 'मेगा' रैली में शामिल होंगे नायडू और राहुल

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. कांग्रेस ने इस चुनाव के लिए तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी), तेलंगाना जन समिति और सीपीआई से हाथ मिलाया है. कांग्रेस और टीडीपी अपने गठबंधन को मजबूती देने के लिए एक मेगा रैली करने जा रही है. इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और टीडीपी सुप्रीमो चंद्रबाबू नायडू शामिल होंगे. माना जा रहा है कि इस मेगा रैली से दोनों पार्टियों में मजबूती आएगी और 2019 लोकसभा चुनाव में साथ लड़ने की ताकत भी मिलेगी.

सूत्रों ने बताया कि यह एक संयुक्त रैली होगी. इसमें दोनों पार्टियों के बड़े नेता हिस्सा लेंगे. मिली जानकारी के मुताबिक, यह रैली नवंबर के अंतिम सप्ताह में हैदराबाद में होगी. कांग्रेस अभी तेलंगाना में मुख्य विपक्षी दल है. इस बार के चुनाव में पार्टी गठबंधन सहयोगियों के साथ मैदान में उतर रही है लेकिन ज्यादातर सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार मैदान में हैं. 119 सदस्यों वाले विधानसभा में 14 सीट पर टीडीपी, 8 सीट पर टीजेएस और तीन सीट पर सीपीआई चुनाव लड़ रही है.

2019 लोकसभा चुनाव के लिए महत्वपूर्ण रैली

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, कांग्रेस और टीडीपी की यह संयुक्त रैली उस समय होने वाली है जब एंटी बीजेपी अलायंस 2019 लोकसभा चुनाव के लिए खास रणनीति बना रहा होगा. ऐसे में इस रैली को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. हाल ही में चंद्रबाबू नायडू ने तमाम राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर के नेताओं से मुलाकात की है.

नायडू ने ममता बनर्जी, देवेगौड़ा, एचडी कुमारस्वामी और एमके स्टालिन से हाल ही मुलाकात की है. अभी तक कांग्रे, टीडीपी, आम आदमी पार्टी, एनसीपी और तृणमूल कांग्रेस ने इस बैठक में आने के लिए अपनी सहमति दे दी है.

नायडू हाल के कुछ महीनों तक एनडीए का हिस्सा थे लेकिन आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिए जाने के बाद उन्होंने एनडीए से अलग होने का फैसला लिया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि बीजेपी ने आंध्र प्रदेश के साथ नाइंसाफी की है. एनडीए से अलग होने के बाद से ही नायडू लगातार विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं और आगे की योजना पर काम कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi