S M L

राफेल सौदा: कांग्रेस का सरकार पर SC को गुमराह करने का आरोप, खड़गे बोले- CAG को तलब करेगी PAC

पीएसी के प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, मैं पीएसी के सभी सदस्यों से अनुरोध करूंगा कि अटॉर्नी जनरल और सीएजी को यह बात पूछने के लिए तलब करें कि राफेल सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट कब संसद में पेश की गई

Updated On: Dec 15, 2018 11:28 AM IST

FP Staff

0
राफेल सौदा: कांग्रेस का सरकार पर SC को गुमराह करने का आरोप, खड़गे बोले- CAG को तलब करेगी PAC

राफेल सौदे को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दिए फैसले के बाद भी इस पर विवाद जारी है. कांग्रेस ने इस मुद्दे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर फिर हमला बोला है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और लोक लेखा समिति (पीएसी) प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे ने सरकार पर राफेल मामले में झूठ बोलकर सुप्रीम कोर्ट को गुमराह करने का आरोप लगाया है.

शनिवार को खड़गे ने कहा, सरकार को राफेल सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट के बारे में गलत तथ्य पेश कर सुप्रीम कोर्ट को ‘गुमराह’ करने के लिये माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं पीएसी के सभी सदस्यों से अनुरोध करूंगा कि अटॉर्नी जनरल (एजी) और सीएजी को यह बात पूछने के लिए तलब करें कि राफेल सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट कब संसद में पेश की गई.

खड़गे ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं, लेकिन यह जांच एजेंसी नहीं है. राफेल सौदे की सिर्फ जेपीसी ही जांच कर सकती है.

Rafale Fighter Plane

भारत सरकार ने फ्रांस के साथ लगभग 58 हजार करोड़ रुपए में 36 आधुनिकतम राफेल लड़ाकू विमानों का सौदा किया है (फोटो: पीटीआई)

बीजेपी ने मल्लिकार्जुन खड़गे को दी SC में रिव्यू पीटिशन की सलाह 

खड़गे के लगाए आरोपों पर बीजेपी ने पलटवार किया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने मल्लिकार्जुन खड़गे के यह कहने पर कि उन्हें सीएजी रिपोर्ट की कॉपी नहीं मिली है, इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पीटिशन (पुनर्विचार याचिका) डालने की सलाह दी है.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को राफेल मामले में अपना निर्णय सुनाते हुए उसकी जांच से जुड़ी याचिका खारिज कर दी थी. अपने फैसले में कोर्ट ने कहा, 'हमें इस प्रक्रिया पर कोई संदेह नहीं है. हमें विमान की गुणवत्ता पर कोई संदेह नहीं है. हमारा देश बिना तैयारी के नहीं रह सकता है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi