S M L

जातिवाद खत्म हुआ लेकिन राजनीतिक छूआछूत शुरू हो गई: राम माधव

बीजेपी महासचिव ने कहा कि यदि कोई राजनीति में है तो उसके प्रतिद्वंद्वी होंगे ही. यहां तक ​​कि महात्मा गांधी के भी उनकी अपनी पार्टी के भीतर लोगों के साथ मतभेद थे.'

Updated On: Sep 26, 2018 10:29 PM IST

Bhasha

0
जातिवाद खत्म हुआ लेकिन राजनीतिक छूआछूत शुरू हो गई: राम माधव

केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने बुधवार को कहा कि भारत में जाति-आधारित छूआछूत समाप्त हो गई है, लेकिन देश में 'राजनीतिक छूआछूत' की शुरूआत हो चुकी है.

महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती और नेल्सन मंडेला की 100 वीं जयंती मनाने के लिए आरआईएस (अनुसंधान और सूचना प्रणाली, एक स्वायत्त नीति अनुसंधान संस्थान) की ओर से आयोजित 'गांधी-मंडेला विरासत: वे फॉरवर्ड' पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि गांधी और मंडेला, दोनों के विरोधी थे लेकिन राजनीतिक जीवन में उनके दुश्मन नहीं थे.

बीजेपी महासचिव ने कहा कि यदि कोई राजनीति में है तो उसके प्रतिद्वंद्वी होंगे ही. यहां तक कि महात्मा गांधी के भी उनकी अपनी पार्टी के भीतर लोगों के साथ मतभेद थे.'

उन्होंने पंडित जवाहरलाल नेहरू के साथ गांधीजी के मतभेदों का जिक्र करते हुए कहा, "उन्हें मतभेदों को सहन करना पड़ा, उन्हें विद्रोह बर्दाश्त करना पड़ा...यहां तक उन लोगों से जो उनकी पसंद थे.' उन्होंने कहा कि मंडेला और गांधी दोनों आम लोगों के लिए खड़े थे, वे जनता के नेता थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi