S M L

कौन देगा जवाब: ‘भोपाल एनकाउंटर’ से जुड़े 15 सवाल

भोपाल पुलिस द्वारा आठ कैदियों का एनकाउंटर सवालों के घेरे में है.

Updated On: Nov 18, 2016 01:09 PM IST

Krishna Kant

0
कौन देगा जवाब: ‘भोपाल एनकाउंटर’ से जुड़े 15 सवाल

प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) जुड़े आठ सदस्यों के जेल से भागने के कुछ ही देर बाद हुए एनकाउंटर ने मध्य प्रदेश सरकार और पुलिस पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं.

एक तरफ सरकार अभी किसी आरोप का जवाब नहीं दे रही है, तो दूसरी ओर मामले की न्यायिक जांच की मांग की जा रही है.

अब तक पुलिस प्रशासन और मीडिया के जरिये जो जानकारियां सामने आई हैं, उनके हिसाब से यह मुठभेड़ सवालों के घेरे में है. इस एनकाउंटर से जुड़े 15 सवाल-

14908258_1838508043060464_4157744602364173759_n

1. आतंकवाद के आरोप में जेल में बंद जो कैदी पहले भी जेल से भाग चुके थे, उनकी निगरानी इतनी कमजोर क्यों रखी गई? जिन कैदियों को खतरनाक बताया जा रहा है, उनकी निगरानी के लिए जेल में क्या एक ही पुलिसकर्मी लगाया जाता था?

2. कैदी अपनी बैरक से बाहर कैसे आये? क्या उनके बैरक का ताला खोलने में किसी ने उनकी मदद की या उन्होंने खुद से ताला खोला?

3. क्या आईएसओ प्रमाणपत्र प्राप्त सेंट्रल जेल का ताला लकड़ी और चम्मच से खोला जा सकता है, जैसा गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह बता रहे हैं ?

4. कैदियों की जेल से भागने की योजना के बारे में जेल प्रशासन को भनक क्यों नहीं लग पाई? कैदियों के भागने में जेल प्रशासन के किसी कर्मी की भूमिका तो नहीं?

5. जिन कैदियों का ट्रायल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हो रहा था, जिन्हें कोर्ट जाने की भी इजाजत नहीं थी, वे जेल की 20 फीट ऊंची दीवार चढ़कर बाहर कैसे आ गए?

6. जब वे अपनी सेल से करीब 400 मीटर दूर जाकर चादर की रस्सी बनाकर दीवार फांद रहे थे. क्या उस वक्त जेल के सुरक्षा गार्ड्स, वीडियो कैमरे, जेल अधिकारी कोई भी काम नहीं कर रहे थे?

7. क्या भागने की कोशिश कर रहे इन आठ कैदियों को जेल के अन्य कैदियों ने भी नहीं देखा? यदि भागने का रास्ता तैयार था तो दूसरे कैदी भी क्यों नहीं भागे?

8. जेल से भागे हुए सभी कैदी एक ही साथ भागे और आठ घंटे में सिर्फ दस किलोमीटर जा सके? जबकि पुलिस को उनके बारे में कोई सूचना नहीं थी. उनमें से कुछ को जेल से भागने का अनुभव भी था.

9. जेल से भागे कैदी पहले अपने को सुरक्षित करेंगे या पहले नये कपड़े और जूते खरीदेंगे, बाल कटवाएंगे? उनके पास जो भी हथियार, कपड़े, जूते, मेवे, देसी पिस्टल, ब्लेड, कंघे वगैरह मिले, वे कहां से आए?

10. क्या कैदियों को बाहर निकलते ही कुछ तत्वों की मदद मिली? अगर किसी की मदद मिली तो एनकाउंटर के समय मदद करने वाले कहां थे?

11. इतना कुछ जुटाने वाले कैदी भागने के लिए एक भी वाहन का इंतजाम नहीं कर पाए? एनकाउंटर के दौरान अगर दोतरफा फायरिंग हुई तो एक भी पुलिसवाले को खरोंच तक क्यों नहीं आई?

12. सभी आठ कैदियों को मारने की जरूरत क्यों पड़ी? जबकि उनके पास सिर्फ चाकू था और वे चारों तरफ से घिर चुके थे? क्या उन्हें या उनमें से कुछ को जिंदा नहीं पकड़ा जा सकता था? जब कैदी फायरिंग नहीं कर रहे थे तो उन सबको जान से मारना क्यों जरूरी था?

13. एनकाउंटर के बाद राज्य के गृहमंत्री ने कहा कि आरोपियों के पास गन नहीं थी. जबकि पुलिस आईजी ने अपने बयान में कहा कि आरोपियों ने पुलिस पर फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में मारे गए. दोनों बयानों में फर्क क्यों है?

14. अगर सामने आया वीडियो सही है, तो चारों ओर से घिरे पांच कैदी हाथ हिलाकर सरेंडर करना चाहते थे. तब उन्हें गिरफ्तार करने की बजाए गोली क्यों मारी गई?

15. वीडियो में वह कौन है, जो कहता है 'कंट्रोल! ये पांचों लोग हमसे बात करना चाहते हैं. तीन भागने की कोशिश कर रहे हैं. चलो उन्हें घेर लो!' इसके बाद गोलियां क्यों चलाई गईं? वीडियो में जमीन पर पड़े जख्मी कैदी पर गोलियां क्यों चलाई गईं?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi